Crypto Swap vs Exchange: Which is Better for Your Business?

क्रिप्टो स्वैप बनाम एक्सचेंज: बिज़नेस के लिए कौन सा ज़्यादा सुविधाजनक है?

Reading time

क्रिप्टोकरेंसी की बढ़ती लोकप्रियता, विभिन्न समर्थन प्रणालियाँ के साथ जुड़ कर विकेंद्रीकृत अर्थव्यवस्था को समृद्ध कर रही हैं और इसका लचीलापन बढ़ा रही हैं। डिजिटल कॉइन्स के धारक क्रिप्टो स्वैप या एक्सचेंज का उपयोग करके अपने एसेट को परिवर्तित कर सकते हैं ताकि विभिन्न यूज़ केसिस यानी उपयोग के मामलों की खोज कर सकें और DeFi की विभिन गतिविधियों में संलग्न हो सकें।

विकेन्द्रीकृत अर्थव्यवस्थाओं में तेजी से हो रहे बदलावों के कारण, क्रिप्टो स्वैपिंग को एक्सचेंज करने के साथ भ्रमित करना आसान है। हालाँकि दोनों दृष्टिकोणों के एक कार्य समान हैं, लेकिन ये दोनों ही अलग-अलग तरीकों से काम करते हैं। व्यवसायों के लिए, क्रिप्टो स्वैप बनाम एक्सचेंज प्लेटफ़ॉर्म की पेशकश करना एक बड़ी चुनौती है, और हम इस लेख में इस दोनों के बीच के अंतरों पर चर्चा और इनका विश्लेषण करेंगे।

कुछ मुख्य बातें

  1. क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंजें और स्वैप क्रिप्टो के एसेटों को परिवर्तित करने के दो तरीके हैं।
  2. एक्सचेंजों में एक कॉइन बेचने और मध्यस्थ करेंसी के उपयोग से दूसरा खरीदने की ज़रूरत होती है, जिससे लेनदेन की लागत बढ़ जाती है।
  3. क्रिप्टोकरेंसी स्वैपिंग में प्रत्येक कॉइन की कीमत को मैच करके एक कॉइन से दूसरे कॉइन में सीधे परिवर्तित करना शामिल होता है।

क्रिप्टो स्वैपिंग को समझना

क्रिप्टो को स्वैप करने का मतलब है कि एक एसेट को दूसरे में बिना किसी मध्यस्थ ऑपरेशन या फिएट करेंसी के सीधे तौर में परिवर्तित करना। पारंपरिक रूप से, बिटकॉइन या फॉरेक्स करेंसियों को परिवर्तित करने में एक मध्यस्थ करेंसी के रूप में USD को शामिल किया जाता है। 

उदाहरण के लिए, मैक्सिकन पेसो को जापानी येन में बदलने के लिए USD/MXN और JPY/USD के ऑपरेशन की ज़रूरत होती है। इसी तरह, बिटकॉइन को एथेरियम में बदलने के लिए पहले USD के लिए BTC को बेचना और फिर USD का उपयोग करके ETH को खरीदना ज़रूरी है।

हालाँकि, बिटकॉइन को सीधे एथेरियम में बदलना, इसको बेचने और खरीदने की तुलना में आसान, तेज़ और अधिक लागत-प्रभावी है। इसके अलावा, एसेटों की अदला-बदली बाज़ार की लिक्विडिटी और ऑर्डर बुक की बहुत कम परवाह करती है, और इस बात पर ध्यान केंद्रित करती है कि उपयोगकर्ताओं को एक डिजिटल कॉइन प्राप्त करने के लिए दूसरे डिजिटल कॉइन में कितना देना होगा।

how crypto swaps work

क्रिप्टो को एक्सचेंज करने के बारे में समझना

क्रिप्टोकरेंसी में स्वैप क्या है, यह समझने के बाद, आइए इसके समकक्ष, क्रिप्टो एक्सचेंजिंग या ट्रेडिंग के बारे में समझाते हैं। यह दृष्टिकोण ज़्यादा पारंपरिक है, जिसमें उपयोगकर्ताओं को दूसरे खरीदने से पहले अपने पुराने क्रिप्टो को बेचना पड़ता है।

क्रिप्टो के एक्सचेंज ऐसे मार्केटप्लेस पर संचालित किए जाते हैं जो उपयोगकर्ताओं और डिजिटल एसेटों को इकट्ठा करते हैं और खरीदारों और विक्रेताओं के लिए DeFi करेंसी ट्रेडिंग पेयर्स की पेशकश करती हैं।

इस क्लासिक ट्रेड मोड में, उदाहरण के लिए, बिटकॉइन से एथेरियम में बदलने के लिए, उपयोगकर्ता को अपने BTC को USD में बेचने के लिए मार्केटप्लेस में शामिल होना होगा। इसके बाद, वे ETH/USD की कीमत के अनुसार अलग से ETH खरीद सकते हैं।

how crypto exchanges work

इस ऑपरेशन में ट्रेडिंग मार्केट के कारक जैसे कि ऑर्डर बुक और क्रिप्टो लिक्विडिटी शामिल हैं जो मैचिंग ऑर्डर और ट्रांजेक्शन फीसको प्रभावित करते हैं। दो तरह की क्रिप्टो एक्सचेंजें हैं जिन्हें आप ऑफ़र कर सकते हैं। आइए CEX और DEX के बीच के अंतर को समझाते हैं।

केंद्रीकृत एक्सचेंजें

एक केंद्रीकृत एक्सचेंज एक ऐसा बाज़ार होता है जिसे एक केंद्रीय प्राधिकरण द्वारा नियंत्रित किया जाता है, और जो लेनदेन को संसाधित और उसका निपटान करता है। ये बाज़ार एक स्टॉक और फ़ॉरेक्स बाज़ार की तरह ही काम करते हैं, जहाँ ज़्यादातर लेनदेन में केंद्रीय करेंसी के रूप में USD शामिल होता है और संचालन एक केंद्रीकृत सर्वर का उपयोग करके संसाधित किया जाता है।

इसके अलावा, डिपाजिट किए गए फंड और खरीददे गए एसेट वेबसाइट के कस्टोडियल वॉलेट पर उपयोगकर्ता के खाते में संग्रहीत किए जाते हैं। ये प्लेटफ़ॉर्म विभिन्न चैनलों और प्रदाताओं से क्रिप्टो लिक्विडिटी प्राप्त करते हैंऔर मार्जिन ट्रेडिंग और फ्यूचर्स कॉन्ट्रैक्ट जैसी विभिन्न ट्रेडिंग क्षमताएँ प्रदान करते हैं।

CEX के उदाहरण: Binance, Kraken और Coinbase.

Centralised and decentralised crypto exchanges

विकेंद्रीकृत एक्सचेंजें

क्रिप्टो एसेटों का आदान-प्रदान करने का दूसरा तरीका विकेंद्रीकृत एक्सचेंजोंका उपयोग करना है, जिसमें संचालन को चलाने के लिए केंद्रीकृत प्रबंधन शामिल नहीं है। इसके बजाय, लेनदेन और ट्रेडों को आरंभ करने, मान्य करने और संसाधित करने के लिए स्मार्ट कॉन्ट्रैक्टों का उपयोग किया जाता है।

यह स्व-निष्पादित मैकेनिज़्म प्लेटफ़ॉर्म स्वचालन पर ध्यान केंद्रित करता है और बिचौलियों की ज़रूरत को ख़त्म करता है। इसके अतिरिक्त, ट्रेड ऑर्डर और एक्सचेंज तब किए जाते हैं जब उपयोगकर्ता अपने वॉलेट को जोड़ते हैं प्लेटफ़ॉर्म के साथ, बिना अपने फंड और खाता जानकारी को केंद्रीकृत सर्वर पर संग्रहीत किए।

DEX के उदाहरण: Uniswap, Curve PancakeSwap.

क्रिप्टो स्वैप बनाम एक्सचेंज: आमने-सामने की तुलना

क्रिप्टो के बिज़नेस विकेंद्रीकृत एसेटों के बीच परिवर्तन की सुविधा के लिए अपने प्लेटफ़ॉर्म पर स्वैप और एक्सचेंज प्रदान करते हैं। लेकिन कौन सा मॉडल बेहतर है? और क्या क्रिप्टो को परिवर्तित करना बेचने के ही समान है? आइए प्रत्येक प्रकार की प्रक्रियाओं की तुलना करें।

Cryptocurrency swaps vs exchanges

लेनदेन प्रक्रिया

क्रिप्टो स्वैपिंग विकेंद्रीकृत एक्सचेंजों पर की जाती है, जहाँ क्रिप्टोकरेंसी की कीमत एक-दूसरे के मुकाबले में तय की जाती है, और उपयोगकर्ता सीधे देख सकते हैं कि उन्हें अन्य कॉइन या टोकन प्राप्त करने के लिए अपनी होल्डिंग्स से कितना देना होगा। क्रिप्टो स्वैप प्लेटफ़ॉर्म उपयोगकर्ता के वॉलेट पर ऑर्डर को स्वचालित रूप से निष्पादित करने और लेनदेन को संसाधित करने के लिए स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट का उपयोग करते हैं।

वहीं दूसरी ओर, क्रिप्टो एक्सचेंज केंद्रीकृत और विकेंद्रीकृत प्लेटफ़ॉर्म पर किए जाते हैं, जो पारंपरिक वित्तीय बाज़ारों की तरह ही काम करते हैं। वे क्रिप्टो उपयोगकर्ताओं को इकट्ठा करते हैं, ऑर्डर बुक को समेकित करते हैं, और विभिन्न स्रोतों से लिक्विडिटी को चैनल कर लाते हैं। क्रिप्टोकरेंसी का आदान-प्रदान करना ट्रेडिंग की तरह ही होता है, जिसमें उपयोगकर्ताओं को एक कॉइन खरीदने से पहले दूसरा कॉइन बेचना पड़ता है।

अप्रैल 2024 तक, दुनिया भर में 600 से अधिक क्रिप्टो एक्सचेंज प्लेटफ़ॉर्म गिने गए।

ज़रूरी बात

सुरक्षा

दोनों ही प्रथाओं के लिए गहन सुरक्षा प्रोटोकॉल की ज़रूरत होती है। हालाँकि, जहाँ केंद्रीकृत क्रिप्टो एक्सचेंज उपयोगकर्ताओं के फंड और डिजिटल वॉलेट की निजी कुंजियोंको संग्रहीत करते हैं, वहीं स्वैप ज़्यादातर DEX पर किए जाते हैं जो सुरक्षा के डेटा को संग्रहीत नहीं करते हैं।

क्रिप्टोकरेंसी स्वैप ज़्यादा सुरक्षित है क्योंकि इसमें कम ऑपरेशन और बिचौलिए शामिल होते हैं, जिसके कारण सुरक्षा के जोखिम या साइबर खतरे कम होते हैं।

लेनदेन की फीस

क्रिप्टोकरेंसी का आदान-प्रदान करने में बिचौलियों और कई ऑपरेशनों की ज़रूरत होती है, जिसमें उच्च प्रोसेसिंग फीस, परिवर्तन दर और तीसरे पक्ष के कमीशन शामिल होती हैं। 

वहीं दूसरी ओर, क्रिप्टो कॉइन्स की स्वैपिंग यानी अदला-बदली का मतलब मध्य करेंसी नहीं है और यह स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट का उपयोग करके किया जाता है जो सर्विस की फीस नहीं लेते हैं, जिससे वे उपयोगकर्ताओं के लिए ज़्यादा अनुकूल विकल्प बन जाते हैं।

निष्पादन गति

क्रिप्टोकरेंसी के स्वैप तेज़ होते हैं क्योंकि वे ब्लॉकचेन तकनीक और स्व-निष्पादित कॉन्ट्रैक्ट का उपयोग करते हैं जो कुछ शर्तों के पूरा होने पर लेनदेन को संसाधित करते हैं। इसके अलावा, उनमें कम बिचौलिए और ऑपरेशन शामिल होते हैं, जो उन्हें ट्रेडिंग की तुलना में तेज़ बनाते हैं।

इसके विपरीत, क्रिप्टो एसेटों का एक्सचेंज एक साधारण स्वैप की तुलना में ज़्यादा समय लेता है क्योंकि इसके लिए दो अलग-अलग लेनदेन (बिक्री और खरीद) की ज़रूरत होती है और इसमें करेंसी परिवर्तन, मैचिंग इंजन और लिक्विडिटी के समेकन जैसी तृतीय-पक्ष सेवाओं का उपयोग किया जाता है।

उपयोगकर्ता अनुभव

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज के प्लेटफ़ॉर्म ट्रेडिंग सिस्टम की तरह ही काम करते हैं, और चार्ट, ट्रेडिंग ऑर्डर, क्रिप्टोकरेंसी जोड़े और मूल्य कार्रवाई को प्रदर्शित करते हैं। 

वहीं दूसरी ओर, क्रिप्टो स्वैप के प्लेटफ़ॉर्म नेविगेट करने में आसान है। उपयोगकर्ताओं को केवल अपने स्वैप वॉलेट को जोड़ना होता है, उस करेंसी को चुनना होता है, जिसे वे स्वैप करना चाहते हैं और उससे संबंधित कीमतों को देखना होता है।

स्वैप या एक्सचेंज: आपको कौन सा चुनना चाहिए?

अपने क्रिप्टो बिज़नेस के लिए सही फ़ीचर चुनना कई कारकों पर निर्भर करता है। यदि आप ब्रोकरेज प्लेटफ़ॉर्म लॉन्च कर रहे हैं, तो आपको क्रिप्टो कॉइन्स, टोकन और एसेटों की एक विस्तृत श्रृंखला का समर्थन करने वाले ट्रेड ऑर्डर और मैच ऑर्डरों को निष्पादित करने के लिए क्रिप्टो एक्सचेंज सॉफ़्टवेयर की ज़रूरत पड़ती है।

हालाँकि, तत्काल क्रिप्टो स्वैप आपके क्रिप्टो प्लेटफ़ॉर्म को अगले स्तर पर ले जा सकता है, जो ऐसे उन्नत फ़ीचर्स प्रदान करता है जो बदलती उपयोगकर्ता प्राथमिकताओं के साथ संरेखित होते हैं। क्रिप्टो धारक तेज़ और सुरक्षित लेनदेन को प्राथमिकता देते हैं, जो स्वैप प्लेटफ़ॉर्म का उपयोग करके उपलब्ध होते हैं।

तत्काल क्रिप्टो स्वैप वॉलेट

जैसे-जैसे बुल क्रिप्टो बाज़ार बढ़ रहे हैं और ट्रेडिंग गतिविधियाँ बढ़ रही हैं, निवेशक और उपयोगकर्ता अपनी लाभदायक ट्रेडिंग रणनीतियों को आगे बढ़ाने के लिए सबसे तेज़ और स्वैप करने के सबसे बढ़िया तरीके की तलाश कर रहे हैं।

B2BinPay swap wallet solution

B2BinPay स्वैप वॉलेट क्रिप्टो बिज़नेस को अपने फंड और भुगतान को उच्च लचीलेपन और अनुकूलन के साथ प्रबंधित करने के लिए सबसे अच्छा टूल प्रदान करते हैं।

B2BinPay समाधानों के साथ क्रिप्टो स्वैप ना केवल आपके क्रिप्टो कैपिटल को प्रबंधित करने का एक सुरक्षित और ज़्यादा लागत प्रभावी तरीका है, बल्कि वे बदलती उपयोगकर्ता प्राथमिकताओं के हिसाब से चलते हैं और आपको अपने प्लेटफ़ॉर्म पर ज़्यादा उपयोगकर्ताओं को आकर्षित करने की अनुमति भी देते हैं।

निष्कर्ष

क्रिप्टोकरेंसी में स्वैपिंग और एक्सचेंजिंग एक जैसे हो सकते हैं, क्योंकि दोनों ही एक डिजिटल एसेट से दूसरी में परिवर्तित करने की सुविधा प्रदान करते हैं। हालाँकि, क्रिप्टो स्वैप ज़्यादा प्रत्यक्ष और सुरक्षित हैं, जिसका मतलब है कि इनमें कोई मध्यस्थ या एक्सचेंज फीस नहीं होती है।

वहीं दूसरी ओर, एक्सचेंज जो हैं वो ट्रेडिंग के समान ही काम करती हैं, जहाँ क्रिप्टो एसेटों को बाज़ार में प्रतिभागियों के बीच खरीदा और बेचा जाता है, जिसमें बाज़ार की लिक्विडिटी, ऑर्डर बुक और फिएट करेंसी एक्सचेंज की दरों को ध्यान में रखा जाता है।

अपने प्लेटफ़ॉर्म पर स्वैप वॉलेट समाधान जोड़ने से आपके प्रोसेस सबसे अधिक माँग वाली कार्यक्षमता प्रदान करके उन्नत हो सकते हैं जो उपयोगकर्ताओं को अपने फंड को तेज़ी से और सुरक्षित रूप से परिवर्तित करने की अनुमति देते हैं।

Linkedin

द्वारा लिखित

Hazem Alhalabiकॉपीराइटर
Linkedin

द्वारा समीक्षित

Tamta Suladzeप्रमुख लेखक

पिछले लेख

oin Us at The iFX Asia Expo - Check Out Our Agenda
Returning to The iFX Asia Expo with More Updates and Innovative Solutions
19.07.2024
B2BinPay at The Forex Expo Dubai – Don’t Miss out! |
Joining The World’s Elites at The Forex Expo Dubai
19.07.2024
Buy Now, Pay Later (BNPL) Can Boost Your Sales - Here’s How
क्रिप्टोकरेंसी में अभी खरीदें, बाद में भुगतान करें (BNPL) अवधारणा कैसे काम करती है?
शिक्षा 11.07.2024
What Should We Expect From The Ethereum Pectra Upgrade?
हमें Ethereum Pectra Upgrade से क्या उम्मीदें होनी चाहिए?
शिक्षा 10.07.2024