PSP vs Payment Gateway: Which One is Best for You?

PSP बनाम भुगतान गेटवे: अपने व्यवसाय में आपको किसी इंटीग्रेट करना चाहिए?

Reading time

2024 में डिजिटल भुगतान महज एक सुविधा न रहकर एक ज़रूरत में तब्दील हो चुके हैं। आज लगभग 75% भुगतान डिजिटली किए जाते हैं, और ज़्यादा से ज़्यादा ग्राहक वर्चुअल भुगतान समाधानों का चयन करने लगे हैं। नतीजतन, यहाँ तक कि छोटे और मध्यम आकार के व्यवसायों को भी डिजिटल काम-काज के लिए किसी न किसी प्रकार की भुगतान प्रणाली सेट-अप करने की ज़रूरत महसूस होने लगी है। नहीं तो, दुनियाभर के डिजिटल ग्राहकों से आने वाली आय के एक बड़े स्रोत को भुनाने के मौके से आप चूक जाएँगे। 

डिजिटल होने के अवसर को हाथ से जाने देकर एक व्यवसाय के तौर पर अपने स्थानीय बाज़ार के सीमित दायरे में बंधे रहने की अब कोई तुक नहीं बनती। अपनी अंतर्राष्ट्रीय तरक्की में रफ़्तार लाकर अपने स्थानीय बाज़ार के और भी बड़े हिस्से पर अपना अधिकार जमाने के लिए किसी भुगतान प्रोसेसिंग समाधान को अपनाने पर आपको विचार कर लेना चाहिए। इस लेख में हम दो प्रमुख विकल्पों पर चर्चा करेंगे – भुगतान गेटवे और भुगतान सेवा प्रदाता व आपके व्यावसायिक काम-काज के लिए कौनसा विकल्प सबसे बेहतरीन साबित होगा।

प्रमुख बिंदु

  1. भुगतान प्रोसेसिंग के लिए भुगतान गेटवे ग्राहकों और व्यवसायों के दरमियाँ एक डिजिटल पुल मुहैया कराते हैं।
  2. भुगतान सेवा प्रदाता उसी सेवा को उपकरणों के बड़े इकोसिस्टम, ज़्यादा कस्टमाइज़ेशन, और कॉम्प्लिमेंटरी सेवाओं के साथ मुहैया कराते हैं।
  3. इन दो विकल्पों में से किसी एक का चयन आपके बजट और आपकी तात्कालिक भुगतान प्रोसेसिंग आवश्यकताओं पर निर्भर करता है।

भुगतान सेवाएँ क्या होती हैं, और आपको उनकी ज़रूरत क्यों पड़ती है?

Digital Payment Statistics

सबसे पहले तो चलिए भुगतान सेवाओं की तकनीकी प्रकृति और आधुनिक व्यवसायों में उनकी भूमिका पर थोड़ी चर्चा कर लेते हैं। भुगतान सेवाएँ आपके भुगतान इंफ़्रास्ट्रक्चर में इंटीग्रेट होकर डिजिटल ग्राहकों से ऑनलाइन भुगतान प्राप्त करने की आपको सहूलियत मुहैया कराने वाले सॉफ़्टवेयर समाधान होते हैं। अगर आपके पास कोई भुगतान प्रणाली नहीं है, तो डिजिटल समाधानों की बदौलत शून्य से एक समूची भुगतान प्रक्रिया को आप सेट-अप कर सकते हैं। 

भुगतान प्रणालियों को सीधे आपके व्यावसायिक बैंक अकाउंट से जोड़कर अपनी प्रोडक्ट्स या सेवाओं के लिए ग्राहक भुगतानों से आए फ़ंड्स को फ़टाफ़ट प्राप्त करने की सहूलियत प्रदान की जा सकती है। ग्राहकों के नज़रिए से भुगतान प्रणालियाँ ग्राहक अकाउंटों को आपकी ऑफ़रिंग्स के बदले सीधे भुगतान करने की सुविधा प्रदान करती हैं। अंत में, भुगतान प्रणाली ग्राहक के पैसे को आपके बैंक खाते में ट्रांसफ़र कर देती है। कई मामलों में, लेन-देन की प्रामाणिकता को सत्यापित करने के लिए भुगतान प्रणालियों की स्वचालित KYC, KYT और अन्य अनुपालन प्रक्रियाएँ भी होती हैं। आपके कारोबार द्वारा अपनाए जा सकने वाली भुगतान प्रणालियों के दो प्रमुख उदाहरण होते हैं। आइए उन पर चर्चा करते हैं।

भुगतान गेटवेज़ को समझना

तो, एक भुगतान गेटवे प्रणाली आखिर क्या होती है? भुगतान गेटवे ऑनलाइन भुगतानों को पूरी तरह से सुविधाजनक बनाने वाले डिजिटल सॉफ़्टवेयर होते हैं। भुगतान गेटवे इंटीग्रेशन की बदौलत व्यवसाय ग्राहकों के क्रेडिट कार्ड्स या डिजिटल वॉलेट्स की डेटा सत्यापन प्रक्रिया व उसके बाद की जाने वाली भुगतान प्रोसेसिंग को ऑटोमेट कर देते हैं।

लेन-देन के शुरू होने के बाद ऑनलाइन भुगतान गेटवे अनुरोध को एन्क्रिप्ट कर उसे भुगतान प्रोसेसर को भेजकर ट्रांसफ़र को पूरा कर देता है। 

How Gateways Work

अंत में, भुगतान राशि को व्यापारी के खाते में ट्रांसफ़र कर गेटवे लेन-देन को पूरा कर देता है। आसान शब्दों में कहें तो एक सुरक्षित भुगतान गेटवे व्यापारी अकाउंटों और ग्राहक अकाउंटों, दोनों ही को एक सतत प्रणाली में जोड़कर लेन-देन की सुरक्षा और बेहतरीन स्पीड को सुनिश्चित करता है। 

इसके चलते भुगतान गेटवे उन व्यवसायों के लिए ऑनलाइन भुगतान सेट-अप करने में एक बेशकीमती भूमिका निभाते हैं, जिनके पास इस लक्ष्य की पूर्ति के लिए एक नेटिव इकोसिस्टम नहीं होता। 

दस में से नौ ग्राहकों का कहना है कि सालभर में किसी न किसी रूप में वे डिजिटल भुगतानों का इस्तेमाल कर ही लेते हैं, जिसके चलते भुगतान गेटवेज़ को अपनाना या फिर PSP के साथ साझेदारी करना व्यवसायों के लिए अनिवार्य-सा हो जाता है।

फ़र्राटेदार फ़ैक्ट

भुगतान सेवा प्रदाता कैसे काम करते हैं?

आइए अब चर्चा करते है – PSP आखिर क्या होते हैं? पेमेंट सर्विस प्रोवाइडर (PSP) व्यवसायों के लिए एक फ़ुल-स्टॉप भुगतान समाधान होता है। कोई PSP प्रदाता सिर्फ़ एक सॉफ़्टवेयर ही नहीं, बल्कि आपकी भुगतान-संबंधी ज़रूरतों के लिए एक पूरा का पूरा इकोसिस्टम होता है। व्यवसायों के समूचे भुगतान प्रोसेसिंग फ़्लो को सुव्यवस्थित करने वाली सेवाओं की व्यापक सूची मुहैया कराकर PSP एक सहज भुगतान गेटवे ऑफ़रिंग से कहीं बढ़कर होते हैं। 

How PSPs Work

उपर्युक्त भुगतान प्रोसेसिंग सेवाओं के अलावा PSP इंटीग्रेशन की बदौलत अपनी भुगतान प्रणाली की कार्यक्षमता में रफ़्तार लाने के लिए आप व्यापारी अकाउंट सेट-अप कर सकते हैं, धोखाधड़ी से बचने वाली प्रथाओं में सुधार ला सकते हैं, और अनेक पूरक सेवाएँ मुहैया करा सकते हैं। संक्षेप में, PSP की सेवा सूची कहीं ज़्यादा व्यापक होती है व व्यवसायों की भुगतान प्रोसेसिंग ज़रूरतों की एक विस्तृत रेंज को वह कवर करती है। 

भुगतान सेवा प्रदाता बनाम भुगतान गेटवेज़

भुगतान गेटवे और भुगतान सेवा प्रदाता, दोनों ही आपके व्यावसायिक काम-काज को भुगतान प्रोसेसिंग सेवाएँ मुहैया करा सकते हैं। लेकिन इन दो विकल्पों में से किसी एक के चयन के लिए आपको सावधानीपूर्वक विचार कर लेना चाहिए। हालांकि भुगतान सेवा प्रदाता सेवाओं का एक बड़ा इकोसिस्टम प्रदान कर सकते हैं, दोनों ही समाधानों को एक्सेस कर आपको इस बात का निर्धारण कर लेना चाहिए कि आपकी मौजूदा और दीर्घकालिक ज़रूरतों को कौनसा समाधान पूरा कर सकता है। 

PSPs vs Gateways

फ़ीचर्स की रेंज

जैसा कि ऊपर बताया गया है, भुगतान गेटवे और PSP, दोनों ही भुगतान प्रोसेसिंग समाधान मुहैया कराते हैं। लेकिन जहाँ भुगतान गेटवे ग्राहक ट्रांसफ़रों को एक्सीक्यूट करने के लिए सिर्फ़ कंपनियों को सेवाएँ मुहैया कराते हैं, PSP डिजिटल भुगतानों से संबंधित हर छोटे-बड़े काम को संभालते हैं। फ़ंड्स की बहाली की प्रक्रिया में रफ़्तार लाने के लिए PSP एक समर्पित व्यावसायिक अकाउंट मुहैया कराते हैं। व्यापारी अकाउंटों को PSP की भुगतान प्रणाली में इंटीग्रेट किया जाता है, जिसके चलते बाहरी भुगतान गेटवेज़ की तुलना में कारोबार ज़्यादा तेज़ी से ग्राहक भुगतान प्राप्त कर पाते हैं। 

वैसे भी, PSP के साथ निपटान स्वचालित होता है, जिसके चलते व्यवसाय पैसे के प्रवाह को मैन्युअली प्रबंधित किए बगैर क्लाइंट ट्रांसफ़र प्राप्त कर पाते हैं। धोखाधड़ी से बचाव और KYC, KYT, एंटी-मनी लॉन्डरिंग, और एंटी-टेररिस्ट फ़ंडिंग के लिए लेन-देन की स्क्रीनिंग PSP का एक और अहम फ़ीचर होता है। नतीजतन भुगतान नेटवर्क ऑपरेटर ज़्यादातर सुरक्षा चेक्स को संभालकर अनुपालन प्रक्रिया में व्यवसायों की भागीदारी को कम कर देते हैं। 

कस्टमाइज़ेशन विकल्प

बात जब आपकी भुगतान प्रोसेसिंग प्रणालियों की आती है, तो आपके पास विकल्पों का होना अहम हो जाता है। भुगतान फ़्लो को कस्टमाइज़ करना, निपटान को ऑटोमेट करना, मुद्राओं का चयन करना, और भुगतान के तय शेड्यूल स्थापित करना हर व्यवसाय के लिए आवश्यक अहम विकल्पों का एक छोटा-सा हिस्सा मात्र होता है। भुगतान गेटवे इन आवश्यकताओं के एक छोटे-से हिस्से को संभाल तो सकते हैं, लेकिन अधिकाँश मामलों में वे भुगतान की डायरेक्ट कस्टमाइज़ेशन तक ही सीमित होते हैं। 

दूसरी तरफ़, क्योंकि PSP के पास भुगतान के समूचे इकोसिस्टम का एक्सेस होता है, अधिकतम लचीलापन मुहैया कराकर आपको भुगतान शेड्यूल स्थापित करने की सहूलियत मुहैया कराते हुए विभिन्न भुगतान प्रक्रियाओं को अपनाने की वे आपको सहूलियत प्रदान कर सकते हैं। साथ ही, PSP की बदौलत अपने इकोसिस्टम के हिसाब से आप भुगतान प्रोसेसिंग को कस्टमाइज़ कर सकते हैं, जिसके चलते अपने CRM टूल्स और अन्य अहम ऑपरेटिंग मॉड्यूल्स के साथ आप फ़टाफ़ट इंटीग्रेशन कर पाते हैं। 

नीश क्षमताएँ और इंटीग्रेशन की सहजता

अभी तक यह ज़ाहिर हो चुका है कि भुगतान गेटवे विकल्पों की तुलना में PSP के फ़ायदों और ऑफ़रिंग्स का पलड़ा कहीं भारी होता है। लेकिन अपने डिजिटल भुगतानों को सेट-अप करने के लिए हर व्यवसाय को पुख्ता और विभिन्न फ़ीचर्स की ज़रूरत नहीं होती। कुछ मामलों में भुगतान-संबंधी अपनी विशिष्ट समस्याओं का नीश समाधान प्राप्त करना मात्र काफ़ी होता है। 

उदाहरण के तौर पर, मौजूदा डिजिटल भुगतान प्रणालियों से लैस व्यवसाय किसी विशिष्ट भुगतान गेटवे को इंटीग्रेट कर भुगतान का एक और विकल्प जोड़ सकते हैं, जिसमें क्रिप्टो मुद्रा ऑफ़रिंग्स या फिर स्वैप्स जैसी भुगतान की विभिन्न विधियाँ शामिल होती हैं। 

ऐसे में आपके इंफ़्रास्ट्रक्चर से फ़टाफ़ट कनेक्ट हो जाने वाले भुगतान गेटवे को प्राप्त कर उसे इंटीग्रेट करना कहीं आसान होता है। दूसरी तरफ़, PSP ज़्यादा पुख्ता होते हैं व उनकी भारी-भरकम सेवा-सूची खासकर तब काफ़ी झंझट का काम साबित हो सकती हैं, जब भुगतान की अपनी मौजूदा प्रणाली में आपको किसी छोटे-से सुधार की ज़रूरत हो। वैसे भी, इसके लिए आपको एक PSP लाइसेंस की ज़रूरत पड़ सकती है, जिसे सेट-अप करने में और भी समय और पैसा लगता है। 

किफ़ायतीपना

अंत में, PSP की तुलना में गेटवेज़ का सबसे बड़ा फ़ायदा उनकी कीमत होती है, जिसकी वजह से व्यवसाय अतिरिक्त लागत के बिना भुगतान विकल्पों को अपना पाते हैं। हालांकि भुगतान प्रोसेसिंग, इंटीग्रेशन विकल्पों, कस्टमाइज़ेशन, और ट्रांसफ़रों की बेहतर एक्सीक्यूशन का PSP विस्तृत पैकेज मुहैया कराते हैं, वह समूची सेवा काफ़ी महँगी साबित होती है। 

दूसरी तरफ़, कहीं ज़्यादा किफ़ायती होने के नाते भुगतान गेटवे सेवाओं के तहत लेन-देन शुल्क और मासिक खर्च कम होता है। ओपन-सोर्स सॉफ़्टवेयर के माध्यम से यहाँ तक कि भुगतान का निःशुल्क गेटवे भी प्राप्त किया जा सकता है।

लेकिन सुरक्षा की कमी और कम जोखिम वाले व्यापारी अकाउंट बनाने की अपनी अक्षमता की वजह से आमतौर पर ओपन-सोर्स समाधानों का सुझाव नहीं दिया जाता है। इसलिए अगर आपको भुगतान की सीमित सेवाओं की ज़रूरत है, तो एक समूचे इकोसिस्टम की जगह किसी वाइट-लेबल भुगतान गेटवे को अपनाना कहीं ज़्यादा लागत-प्रभावी साबित होता है। 

अंतिम विचार

किसी PSP या भुगतान गेटवे प्रदाता के बीच फ़ैसला करने के लिए आपको अपनी ज़रूरतों का सावधानीपूर्वक आकलन कर अपनी भुगतान प्रोसेसिंग आवश्यकताओं के दायरे और सीमा का निर्धारण करना होता है। हालांकि PSP आपकी भुगतान-संबंधी आवश्यकताओं को पूरा कर सकने वाली विस्तृत सेवाएँ मुहैया कराते हैं, गेटवे ज़्यादा केंद्रित और कम महँगे होते हैं। 

इसलिए अगर आप भुगतान की किसी समूची प्रणाली को लागू करना चाहते हैं, तो PSP सबसे बेहतरीन विकल्प साबित होते हैं, जबकि अगर आप भुगतान का महज एक समाधान भर प्राप्त करना चाहते हैं, तो उस लागत के एक छोटे-से हिस्से के बदले गेटवे आपकी ज़रूरतों को पूरा कर सकते हैं।

Linkedin

द्वारा लिखित

Levan Putkaradzeलेखक
Linkedin

द्वारा समीक्षित

Tamta Suladzeप्रमुख लेखक

पिछले लेख

Getting Ready for The Highly Anticipated FMPS 2024
Bringing Our Payment Solutions To The Finance Magnates Pacific Summit
10.06.2024
Suiting Up For Crypto Discussions at The Massive Token 2049
Token 2049 Singapore is Around The Corner – Here Are Our Plans
10.06.2024
B2BinPay Suits Up for Money Expo India 2024!
B2BinPay is Good to Go at Money Expo India 2024! 
05.06.2024
B2BiPay v20 update
B2BinPay v20 – TRX स्टेकिंग और बेहतर ब्लॉकचेन सपोर्ट के साथ फ़ंक्शनैलिटी में सुधार