Differences between Liquid vs Lightning Networks

Liquid बनाम Lightning नेटवर्क – तुलना विश्लेषण

Reading time

एक ब्लॉकचेन त्रिलम्माएक धारणा है जिसके अनुसार विकेंद्रीकृत प्रणालियाँ सुरक्षा, स्केलेबिलिटी और विकेंद्रीकरण के संदर्भ में किसी भी समय तीन में से केवल दो लाभ प्रदान करने में सक्षम हैं।

बिटकॉइन जैसे लेयर 1 ब्लॉकचेन को स्केलेबिलिटी की समस्या का सामना करना पड़ा है, यानी, कुछ समय में प्रसंस्करण लेनदेन की गति और दक्षता के माप के रूप में व्यक्त प्रवाह क्षमता की डिग्री। 

जैसे-जैसे उपयोगकर्ताओं की संख्या और एक साथ भुगतान संचालन बढ़ता है, लेयर 1 ब्लॉकचेन पर काम करना बहुत धीमा और महंगा हो सकता है। 

बिटकॉइन की स्केलेबिलिटी विकसित करने के लिए, लेयर 2 ब्लॉकचेन (सॉलूशन्स) का आविष्कार किया गया था, जिनमें से सबसे लोकप्रिय वर्तमान में Liquid और Lightning नेटवर्क हैं।

यह लेख Liquid बनाम Lightning नेटवर्क का तुलनात्मक विश्लेषण करेगा और बताएगा कि इन दोनों को कैसे व्यवस्थित किया जाता है।

मुख्या बातें

  1. Liquid नेटवर्क तेज़, सस्ते और गोपनीय लेनदेन और स्टेबल कॉइन्स, टोकनयुक्त शेयर और अन्य वित्तीय उपकरणों जैसी डिजिटल एसेट्स जारी करने के लिए बिटकॉइन की साइडचेन है।
  2. Lightning चेन प्रोटोकॉल एक बिटकॉइन स्केलिंग प्रणाली है जो इसकी सीमित बैंडविड्थ की समस्या के समाधानों में से एक है। इसका उपयोग न्यूनतम शुल्क के साथ लगभग तात्कालिक कॉइन ट्रासंफर करने के लिए किया जा सकता है।

Liquid नेटवर्क क्या है?

Liquid नेटवर्क एक लेयर 2 साइडचेन है जो डिजिटल संपत्तियों को बिटकॉइन ब्लॉकचेन पर व्यवस्थित और जारी करने की अनुमति देता है। ये स्टेबल कॉइन्स, सुरक्षा टोकन और अन्य वित्तीय उपकरण हो सकते हैं। 

Liquid नेटवर्क BTC ट्रेडर्स को तेज़, ज़्यादा निजी निपटान करने और एक अलग सुरक्षा मॉडल के तहत संचालन के बदले में कई अन्य तकनीकी नवाचारों का आनंद लेने में सक्षम बनाता है।

Liquid एक साइडचेन है जो क्रिप्टोग्राफ़िक पेग के माध्यम से बिटकॉइन को सिस्टम के अंदर और बाहर ट्रांसफर करने की अनुमति देता है। जब बिटकॉइन को Liquid में जोड़ा जाता है, तो इसे Liquid बिटकॉइन (LBTC) कहा जाता है। 

Liquid लेजर आगे बढ़ता है, और अंतर्निहित बिटकॉइन की कस्टडी एक फेडरेशन द्वारा नियंत्रित की जाती है। जब तक इसके दो-तिहाई से अधिक सदस्य ईमानदार रहेंगे, सिस्टम सुरक्षित रहेगा।

Bitcoin Liquid Network

Liquid चेन नए एसेट्स के निर्माण को सपोर्ट कर सकती है जो साइडचेन के मूल पर आधारित हैं। इन एसेट्स का आदान-प्रदान बहु-एसेट लेनदेन के माध्यम से एक सुरक्षित और एटॉमिक ढंग से किया जा सकता है।

इसके अतिरिक्त, Liquid बिटकॉइन और जारी किए गए एसेट्स सहित नेटवर्क पर सभी एसेट्स में लगातार एक मिनट का ब्लॉक समय होता है और एसेट के प्रकार और लेनदेन राशि के संबंध में क्रिप्टोग्राफ़िक रूप से गोपनीय होते हैं। 

Liquid चेन बिटकॉइन स्क्रिप्ट और उसके ऊपर बने प्रोटोकॉल का भी समर्थन करती है, जैसे कि Lightning प्रोजेक्ट, साथ ही स्क्रिप्ट एक्सटेंशन जो अनुबंध, कीट्रीज़ और ऐसी कई उन्नत सुविधाओं को सक्षम करते हैं।

Liquid नेटवर्क प्रोजेक्ट में एक टोकन है। इसे L-BTC कहा जाता है और इसे 1:1 के अनुपात में BTC से जोड़ा जाता है। इस लेखन के समय तक, लगभग 3,570 L-BTC प्रचलन में हैं। टोकन का उपयोग करने का प्राथमिक और सबसे लाभदायक तरीका Lightning चेन पर है, जो बिटकॉइन वितरित लेजर की तुलना में अपेक्षाकृत उच्च लेनदेन गति और प्रवाह क्षमता प्रदान करता है।

इसके अलावा, Liquid नेटवर्क उपयोगकर्ता L-BTC का उपयोग अन्य अनुप्रयोगों में भी कर सकते हैं जो Liquid नेटवर्क का समर्थन करते हैं, जैसे कि ऋण लेने या सिक्योरिटी टोकन खरीदने के लिए।

Total L-BTC in circulation

Liquid चेन Lightning नेटवर्क पर आधारित है। एक Liquid नेटवर्क के रूप में, लाइटनिंग सिस्टम बिजली की तेजी से और बेहद सस्ते BTC लेनदेन प्रदान करता है लेकिन पहले नेटवर्क की तुलना में इसकी कार्यक्षमता अधिक सीमित है।

तेज़ तथ्य

Lightning नेटवर्क क्या है?

Lightning नेटवर्क एक और लेयर 2 स्केलिंग समाधान है जो बाज़ार में अग्रणी कॉइन्स, ब्लॉकचेन के स्केलेबिलिटी मुद्दों को संबोधित करता है। यह तत्काल और कम लागत वाले एसेट लेनदेन प्रदान करता है, जिससे वे उपयोगकर्ताओं के लिए अधिक कुशल और सुलभ हो जाते हैं। बिटकॉइन नेटवर्क ट्रांसफर की तुलना में, Lightning नेटवर्क के लेनदेन निजी होते हैं, ऑफ़लाइन होते हैं, और BTC ब्लॉकचेन पर केवल कुल परिणाम ही दर्ज किए जाते हैं।

how transactions work in lightning network

एक बिटकॉइन Lightning नेटवर्क भुगतान चैनल की सुरक्षा के लिएमल्टीसिग मैकेनिज्म का उपयोग करता है। प्रतिभागियों को फंड लॉक करना होगा और भुगतान चैनल स्थापित करना होगा। इससे, वे हर बार बिटकॉइन ब्लॉकचेन पर लेनदेन भेजे बिना चैनल के भीतर तेज़ और सस्ता भुगतान कर सकते हैं। 

एक भुगतान चैनल बिटकॉइन ब्लॉकचेन के बाहर प्रतिभागियों के बीच एक संबंध है जो चैनल के भीतर लेनदेन की एक श्रृंखला पर हस्ताक्षर करके और फिर उन्हें विशेष लाइटिंग वॉलेट में संसाधित करके प्राप्त किया जाता है।

बिटकॉइन Lightning प्रणाली एक रूटेबल मल्टी-जंक्शन प्रणाली को लागू करने के लिएहैश्ड टाइमलॉक कॉन्ट्रैक्ट्स (HTLC) पर अधारित भुगतान चैनलों का उपयोग करता है। HTLC को लागू करने के लिए हैशिंग और टाइम-ब्लॉकिंग स्थितियों को पूरा करने के लिए स्क्रिप्टिंग भाषा में परिभाषित एक जटिल लेनदेन स्क्रिप्ट की आवश्यकता होती है।

भुगतान चैनल के खुलने पर यह स्क्रिप्ट शुरू हो जाएगी और भुगतान के समय चलेगी। इस तरह, बिटकॉइन नेटवर्क में Lightning नेटवर्क नेटवर्कों के बीच के भुगतान की दक्षता और सुरक्षा सुनिश्चित करता है।

Lightning network payment channel

Liquid बनाम Lightning नेटवर्क – वे कितने अलग हैं?

हालाँकि ऊपर चर्चा की गई बिटकॉइन चेन के लिए दोनों स्केलेबिलिटी समाधानों का उद्देश्य बिटकॉइन की क्षमताओं की सीमाओं को आगे बढ़ाना और इसके नेटवर्क के अंदर लेनदेन को तेज़ और ज़्यादा कुशल बनाना है, वे कई मायनों में अलग हैं जो उनकी विशिष्ट विशेषताओं और व्यावहारिक अनुप्रयोगों को उजागर करते हैं। नीचे प्रत्येक मानदंड के अनुसार उनमें से प्रत्येक का तुलनात्मक विश्लेषण दिया गया है।

lightning and liquid networks comparison

1. ऑन- और ऑफ-रैंप

Lightning चैनलों का खुलना और बंद होना Lightning के इनपुट और आउटपुट को दर्शाता है। इस प्रकार, कई उपयोगकर्ताओं को इस नेटवर्क में लेनदेन करने के लिए एक बहु-हस्ताक्षर पता जोड़ना होगा। एक बार फंड्स प्राप्त हो जाने के बाद, उन तक केवल भुगतान चैनल के दोनों उपयोगकर्ताओं की निजी कीज़ से ही पहुँचा जा सकता है, दोनों हस्ताक्षरों के मौजूद होने पर। 

Lightning नेटवर्क में लेनदेन पूरा करने के लिए, एक पूरी तरह से समकालिक BTC नोड और एक समवर्ती Lightning नोड शुरू करने की आवश्यकता होगी, जो कि भुगतान चैनल खुला होने तक नेटवर्क में कार्यात्मक होना चाहिए। 

Liquid Bitcoin (L-BTC) बनाने के लिए, एकon-chain लेनदेन जो Lightning चैनल बनाने के समान, शुरू करना आवश्यक है। BTC को बिटकॉइन पते पर ट्रांसफर करना और उन्हें अस्थायी रूप से लॉक करना आवश्यक है। 

इस ऑपरेशन के आउटपुट का उपयोग Liquid Network पर L-BTC की समतुल्य मात्रा को अनलॉक करने के लिए किया जा सकता है, जिसका Liquid के प्रोटोकॉल नियमों के अनुसार लेनदेन किया जा सकता है।

2. ट्रस्ट मॉडल

Lightning sidechain लेनदेन को सीधे प्रसारित किए बिना बिटकॉइन चेन द्वारा सुरक्षित करने में सक्षम बनाता है। जब भी चैनल के बैलेंस में कोई बदलाव होता है, तो Lightning चैनल के दोनों उपयोगकर्ता इस पर सह-हस्ताक्षर करते हैं, और कोई भी उपयोगकर्ता जब चाहे निपटान लेनदेन को ब्रॉडकास्ट करना चुन सकता है। 

मान लीजिए कि दोनों पक्ष अपने नोड या वॉलेट सेवा के माध्यम से चैनल की स्थिति पर लगातार नज़र रखते हैं। इस स्थिति में, Lightning पर भरोसा बहुत कम हो जाता है क्योंकि किसी भी चैनल के उपयोगकर्ताओं को लेनदेन के लिए एक-दूसरे पर भरोसा करने की आवश्यकता नहीं होती है।

Liquid का ट्रस्ट सिस्टम 15 हार्डवेयर सिक्योरिटी मॉड्यूल (HSMs) के एक संघ के आसपास बनाया गया है जो होस्ट सर्वर से जुड़े होते हैं जिन्हें फंक्शनरीज़ कहा जाता है। BTC: L-BTC टू-वे पेग को प्रभावी ढंग से संचालित करने के लिए, फेडरेशन के कम से कम दो-तिहाई फंक्शनरीज़ को ईमानदारी से कार्य करने की आवश्यकता होती है। 

हालाँकि विश्वास का कुछ स्तर अभी भी आवश्यक है, वितरित फेडरेशन मॉडल उस ट्रस्ट मॉडल की तुलना में कहीं अधिक भरोसेमंद है जिस पर अधिकांश व्यापारी भरोसा करते हैं, जहाँ उन्हें अपने फंड्स को एक ही एक्सचेंज को सौंपना पड़ता है।

3. गति

Lightning चेन के माध्यम से भुगतान तेज़ी से होता हैं। क्योंकि उन्हें ब्लॉकचेन पर पुष्टि की आवश्यकता नहीं है, वे उतनी तेज़ी से हो सकते हैं जितना आपका इंटरनेट कनेक्शन इजाज़त देता है, संभावित रूप से प्रति सेकंड लाखों लेनदेन हो सकते हैं। इसलिए, यदि वांछित भुगतान साइज़ को संसाधित करने के लिए चैनल उपलब्ध हैं, तो लेनदेन की गति Lightning का उपयोग करने के सबसे महत्वपूर्ण लाभों में से एक है।

Liquid लेजर लेनदेन को सत्यापित करने के लिए ब्लॉक बनाता है, जिससे लेनदेन Lightning की तुलना में धीमा हो जाता है। हालाँकि, यह अभी भी बिटकॉइन ब्लॉकचेन से तेज़ है। हर मिनट नए Liquid ब्लॉक बनते हैं, जो बिटकॉइन ब्लॉक से दस गुना तेज़ हैं। किसी लेनदेन के पूरे होने के लिए दो पुष्टियाँ आवश्यक हैं। इसका मतलब है कि Liquid लेनदेनों में लगभग दो मिनट लगते हैं।

4. कस्टडी

Lightning चेन के उपयोगकर्ताओं को चैनल बंद होने तक अपनी कीज़ ऑनलाइन रखनी होंगी। इसके लिए निरंतर नज़र और रोलिंग बैकअप की आवश्यकता होती है। हालाँकि कोई ज्ञात हैक नहीं है, लेकिन जब नोड्स ऑनलाइन हों तो हमलावर संवेदनशील जानकारी और निजी कीज़ चुरा सकते हैं।

यह ध्यान देने योग्य है कि Lightning पर बहु-हस्ताक्षर बिटकॉइन स्टोरेज नहीं किया जा सकता है, जिसका अर्थ है कि फंड्स को केवल एक ही कीज़ द्वारा नियंत्रित किया जा सकता है। यह बड़ी मात्रा में बिटकॉइन स्टोर करने या उन संस्थानों के लिए सबसे अच्छा विकल्प नहीं है जो नहीं चाहते कि उनके फंड्स पर केवल एक ही व्यक्ति का पूर्ण नियंत्रण हो।

Liquid उपयोगकर्ताओं को अपनी कीज़ कोल्ड स्टोरेज में ऑफ़लाइन स्टोर करने की अनुमति देता है, सुरक्षा की एक अतिरिक्त परत प्रदान करते हुए। इसका मतलब है कि फंड्स को केवल निजी कीज़ तक भौतिक पहुँच से ही चुराया जा सकता है। 

इसके अतिरिक्त, Blockstream Green, Liquid उपयोगकर्ताओं को हार्डवेयर वॉलेटके उपयोग की अनुमति देता है, जो उनकी L-BTC निजी कीज़ को स्थायी रूप से ऑफ़लाइन रखता है, जिससे उनके फंड्स को और भी अधिक सुरक्षा प्राप्त होती है।

बहु-हस्ताक्षर भी Liquid द्वारा समर्थित है, जो BTC के ही समान है। यह फीचर व्यक्तिगत उपयोगकर्ताओं के लिए सुरक्षा बढ़ाता है और संस्थानों को अपने L-BTC वॉलेट पर साझा नियंत्रण स्थापित करने में सक्षम बनाता है।

5. लेनदेन का साइज़

Lightning सिस्टम को छोटे से मध्यम साइज के संचालन को संभालने के लिए डिज़ाइन किया गया है। भुगतान भेजने के लिए, उपयोगकर्ताओं को प्राप्तकर्ता से जुड़ने वाले नेटवर्क के माध्यम से Lightning चैनलों का रास्ता खोजना होगा। 

हालाँकि, प्रत्येक Lightning चैनल द्वारा संसाधित किए जा सकने वाले भुगतान का साइज़ इसे बनाने के लिए उपयोग किए जाने वाले प्रारंभिक फंडिंग लेनदेन के साइज़ तक सीमित होता है। जैसे-जैसे लेनदेन का साइज़ बढ़ता है, यह संभावना कम होती जाती है कि खरीदार से विक्रेता तक का पूरा रास्ता मिल जाएगा, जिससे Lightning चेन बड़े लेनदेन के लिए कम विश्वसनीय हो जाती है।

Liquid नेटवर्क को मध्यम से बड़े लेनदेन के प्रसंस्करण के लिए डिज़ाइन किया गया है। Lightning के विपरीत, Liquid एक साइडचेन के माध्यम से संचालित होता है, एक अद्वितीय ब्लॉकचेन जो उपयोगकर्ताओं को टोकन के साथ लेनदेन करने की अनुमति देता है जिसे Liquid बिटकॉइन (L-BTC) नामक BTC के लिए एक्सचेंज किया जा सकता है।

उपयोगकर्ता Liquid नेटवर्क पर किसी भी साइज़ का लेनदेन कर सकते हैं। सैद्धांतिक रूप से, 21 मिलियन BTC तक का लेनदेन किया जा सकता है। इसके अलावा, प्राप्तकर्ताओं को पहले से कोई चैनल तैयार करने की आवश्यकता नहीं है; वे उतना प्राप्त कर सकते हैं जितना कि भेजनेवाला भेज सकता है।

6. गोपनीयता

Lightning प्रोजेक्ट उपयोगकर्ताओं को BTC के साथ on-chain संचालन की तुलना में ज़्यादा गोपनीयता प्रदान करता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि बिटकॉइन on-chain लेनदेन की वास्तविक समय में निगरानी की जा सकती है। Lightning भुगतान कई नोड्स के माध्यम से भेजे जाते हैं, जिससे रिसीवर या रिले नोड के लिए लेनदेन का सटीक स्रोत निर्धारित करना असंभव हो जाता है।

on-chain भुगतान के विपरीत, Lightning भुगतान अपरिवर्तनीय ब्लॉकचेन पर एक स्थायी रिकॉर्ड नहीं छोड़ते हैं। यह सुविधा लेनदेन की गोपनीयता पर हमला करने का प्रयास करने वाले हमलावर के लिए एक महत्वपूर्ण चुनौती पेश करती है, जिससे उन्हें लेनदेन को गुमनामी से बाहर निकालने के लिए आगे भेजने की आवश्यकता होती है। ऐसी प्रक्रिया से बाद में किसी भी जानकारी को पुनर्प्राप्त करना लगभग असंभव हो जाता है।

Liquid नेटवर्क में ब्लॉकस्ट्रीम द्वारा विकसित एक अद्वितीय क्रिप्टोग्राफ़िक प्रोटोकॉल है जिसे गोपनीय लेनदेन के रूप में जाना जाता है जो ट्रांसफर किए फंड्स और एसेट्स की गोपनीयता सुनिश्चित करता है। इस प्रकार, एक Lighting प्रणाली के विपरीत, ट्रांसफर किए गए एसेट की राशि और प्रकार का खुलासा भेजनेवाले और प्राप्तकर्ता के अलावा किसी को नहीं किया जाता है।

निष्कर्ष

संचालित liquid बनाम lightning नेटवर्क के तुलनात्मक विश्लेषण से पता चलता है कि इनमें से प्रत्येक BTC लेयर 2 समाधानो के अपने फायदे और नुकसान हैं, साथ ही एक ही लक्ष्य को सुनिश्चित करने के लिए अभ्यास में उपयोग के ढांचे के भीतर कार्य करने की विशिष्टताएँ हैं – BTC नेटवर्क की प्रवाह क्षमता बढ़ाना और लेनदेन प्रसंस्करण गति और लागत के मुद्दों में इसके लचीलेपन यानि फलेक्सिबिलिटी में सुधार करना।

पिछले लेख

B2BinPay at Finance Magnates Africa Summit 2024
B2BinPay is Bound for Finance Magnates Africa Summit 2024
16.02.2024
Crypto Expo Dubai 2024
B2BinPay To Present at Crypto Expo Dubai 2024
15.02.2024
B2BinPay v19, Instant Swaps and Expanding Blockchain Support
पेश है B2BinPay v19, इंस्टेंट स्वैप और विस्तारित ब्लॉकचेन समर्थन की पेशकश के साथ
How Wrapping Coins Solves a Cross-Chain Problem
रैपिंग से ब्लॉकचेन की क्रॉस-चेन समस्या आखिर कैसे हल हो जाती है
शिक्षा 13.02.2024