How to Diversify Altcoin Portfolio for a Crypto Bull Market

क्रिप्टो बुल मार्केट में अपने अल्टकॉइन पोर्टफोलियो को लाभदायक कैसे बनाएं

Reading time

अनुभवी व्यापारियों की लोकप्रिय सलाह – अपने सभी अंडे एक टोकरी में न रखें – रणनीति सभी परिसंपत्तियों और बाजारों पर लागू होती है और यह बुल मार्केट बाजारों के दौरान भी प्रासंगिक होती है जब चीजें बहुत सुचारू रूप से चलने लगती हैं। 

यह लेख क्रिप्टो बुल मार्केट की प्रमुख विशेषताओं पर चर्चा करेगा और altcoins के साथ आपके पोर्टफोलियो में डायवर्सिफिकेशन लाने के तरीकों के बारे में बताएगा।

मुख्य बातें

  1. क्रिप्टो बुल मार्केट क्रिप्टो की बढ़ती कीमतों, क्रिप्टो एसेट्स की उच्च मांग और निवेशकों की सकारात्मक भावनाओं का दौर है।
  2. आवंटन का मतलब अलग-अलग एसेट्स वर्गों के बीच निवेश को विभाजित करना है।
  3. डायवर्सिफिकेशन अलग-अलग वर्गों के विभिन्न एसेट्स में निवेश करने का सुझाव देता है।
  4. बिटकॉइन, एक प्रमुख डिजिटल एसेट, आपके पोर्टफोलियो में महत्वपूर्ण मूल्य जोड़ सकता है, लेकिन altcoins अधिक डायवर्सिफिकेशन करने में योगदान करते हैं।

क्रिप्टो बुल मार्केट क्या होता है?

बुल मार्केट तब होता है जब निवेश की कीमतें काफी बढ़ जाती हैं, जिससे क्रिप्टो समुदाय के बीच व्यापक आशावादी माहौल बनता है। निवेशक इसमें शामिल होने के लिए उत्सुक होते हैं क्योंकि उनका मानना होता है कि बाजार और बढ़ता रहेगा। बुल मार्केट अपनी मजबूती का श्रेय अर्थव्यवस्था में सुधार, उच्च कॉर्पोरेट आय, घटती ब्याज दरों और अनुकूल सरकारी पहलों को देता है।

Example Of The 2009 - 2019 Bull Market

क्रिप्टो बाजार में बुल, वृद्धि का प्रतीक है, लोग क्रिप्टो कॉइन्स को उनकी कीमत बढ़ने पर लाभ के साथ बेचने के इरादे से खरीदता है। ऐसे बाज़ार तब बनते हैं जब निवेशक अपने क्रिप्टो निवेश के बारे में आशावादी होते हैं, और एसेट्स की बढ़ती कीमतें और रिटर्न उनके आत्मविश्वास को बढ़ाते हैं। 

बुल मार्केट हफ्तों, महीनों या वर्षों तक चल सकता है। हालाँकि, बुल मार्केट की सटीक भविष्यवाणी करना बेहद चुनौतीपूर्ण है क्योंकि इसे केवल होने के बाद में ही देखा जा सकता है।

सकारात्मक आर्थिक विकास, कर में कटौती और कम ब्याज दरों के कारण बुल मार्केट देखा जा सकता है। GDP में वृद्धि अन्य आर्थिक संकेतकों में सुधार कर सकता है, जिससे बेहतर लाभ मार्जिन और आय दर में वृद्धि हो सकती है। विस्तारवादी राजकोषीय नीतियों को अपनाने वाली सरकारों के पास निवेशकों के लिए बेहतर बचत हो सकती है, जिसके परिणामस्वरूप निवेश में वृद्धि होगी और वित्तीय एसेट्स की कीमतें ऊंची होंगी।

फिक्स्ड-इनकम सिक्योरिटीज पर कम ब्याज दरें भी निवेशकों को उच्च संभावित रिटर्न वाले अन्य क्षेत्रों में निवेश करने के लिए प्रोत्साहित कर सकती हैं, जिससे बाजार में तेजी आएगी।

बुल मार्केट की महत्वपूर्ण विशेषताएं

एक बुल मार्केट की विशेषता ऊपर की ओर जाते हुए ट्रेंड और निवेशकों में उच्च विश्वास है, जिससे खरीददारी में वृद्धि होती है और उच्च कीमतों का एक चक्र शुरू होता है। बुल मार्केट अक्सर आर्थिक विस्तार की अवधि के साथ मेल खाते हैं, जिसके परिणामस्वरूप मजबूत आर्थिक संकेतक निवेशकों के विश्वास को बढ़ाते हैं।

इसके अतिरिक्त, कई उद्योगों और क्षेत्रों में विकास का अनुभव होता है, जो व्यापक बाजार आशावाद को दर्शाता है। कम बेरोजगारी दर अक्सर बुल मार्केट्स से जुड़ी होती है, जो एक स्वस्थ अर्थव्यवस्था और बढ़े हुए उपभोक्ता खर्च का संकेत देती है।

यहां बाज़ार के क्रिप्टो बुल रन के कुछ प्रमुख संकेतक दिए गए हैं।

Key Indicators Of The Bull Market.
  • बढ़े हुए बेंचमार्क इंडेक्स – बाजार में आम तौर पर दो महीने या उससे अधिक समय में 20% की वृद्धि होती है, जैसा कि डॉव जोन्स या S&P 500 जैसे व्यापक सूचकांकों द्वारा मापा जाता है।
  • उच्च ट्रेडिंग वॉल्यूम और बढ़ी हुई लिक्विडिटी – उच्च मांग और कीमतों के कारण, ट्रेडिंग वॉल्यूम बढ़ता है, जिससे लिक्विडिटी को बढ़ावा मिलता है।
  • निवेशकों का बढ़ा विश्वास – बुल मार्केट के दौरान, निवेशक इसकी ताकत और भविष्य के प्रदर्शन को लेकर आश्वस्त महसूस करते हैं, अधिक क्रिप्टो खरीदते हैं और अपने निवेश को बनाए रखते हैं।
  • मजबूत अर्थव्यवस्था – बुल मार्केट आम तौर पर उच्च रोजगार स्तर, बढ़ती जीडीपी और अन्य प्रमुख आर्थिक संकेतकों में सकारात्मक प्रदर्शन के साथ एक मजबूत अर्थव्यवस्था को दर्शाता है।
  • एसेट्स की बढ़ती कीमतें – बढ़ी हुई मांग एसेट्स की कीमतों को बढ़ाती है, जो बाजार में बुलिश ट्रेंड का संकेत देती है।

बुल मार्केट के जोखिम

बुल मार्किट कई आसान लाभ प्रदान करते हैं, लेकिन इस ट्रेंड के साथ कई जोखिम भी जुड़े हुए हैं।

लंबे समय तक सकारात्मक रिटर्न के परिणामस्वरूप आत्मसंतुष्टि हो सकती है, जिससे निवेशको को संभावित बाजार उलटफेर के समय कम तैयारी का सामना करना पड़ सकता है। 

बाज़ार में अस्थिरता भी आ सकती है, जिससे अल्पकालिक नुकसान हो सकते है और निवेशकों की भावना प्रभावित हो सकती है। पैक मानसिकता, दूसरों के व्यवहार से प्रभावित होकर, भावनात्मक या अति आत्मविश्वासी निर्णयों के कारण काफी बड़ा बाजार जोखिम पैदा कर सकती है।

बुल मार्केट के दौरान अत्यधिक आशावाद और अटकलों के कारण एसेट्स की कीमतों का ओवर-वैल्यूएशन भी हो सकता हैं, जिससे निवेशकों को काफी बड़ा नुकसान हो सकता है। 

एसेट्स में लगातर वृद्धि जारी रहने पर निवेशक अपने निवेश को रोक सकते हैं, खासकर के बुल मार्केट में। हालाँकि, बाजार की ट्रेंड समाप्त होने पर बड़े पैमाने पर नुकसान हो सकता है, खासकर स्पेक्युलेटिव निवेशकों को। 

यह अस्थायी हो सकता है लेकिन यह छोटी, कम स्थापित कंपनियों के दृष्टिकोण को स्थायी रूप से बदल सकता है, जिससे ऐसी स्थितियों में सतर्क रहना महत्वपूर्ण हो जाता है।

बुल मार्केट के दौरान, कम अनुशासित या आक्रामक निवेशक अधिक अटकलों में संलग्न हो सकते हैं, जिससे मार्केट बबल पैदा हो सकता है। ऐसा तब होता है जब एसेट्स अपने मूल्य से कहीं अधिक मूल्य पर ट्रेड होती है।

मार्केट बबल लाभ के अवसर प्रदान कर सकते हैं लेकिन निवेशकों में घबराहट और कीमतों में तेजी से गिरावट का कारण भी बन सकते हैं। यह सुधार या गिरावट एक नए बेयरिश बाजार को जन्म दे सकती है, जो निवेशकों का विश्वास वापस आने तक बना रह सकता है। 

कुल मिलाकर, निवेश करते समय आपको सतर्क और अनुशासित रहना बेहद जरुरी है।

एसेट एलोकेशन बनाम डायवर्सिफिकेशन

जब आपके निवेश पोर्टफोलियो को सुरक्षित रखने की बात आती है, तो एलोकेशन और डायवर्सिफिकेशन दो ऐसे विकल्प हैं जो सबसे पहले आपके दिमाग में आने चाहिए। 

एसेट एलोकेशन

सरल शब्दों में, एसेट एलोकेशन का मतलब अपने पैसे को स्टॉक, बॉन्ड, नकदी, ऑप्शंस, फ्यूचर्स, कमोडिटी और रियल एस्टेट जैसे विभिन्न एसेट्स श्रेणियों में लगाना है, जबकि डायवर्सिफिकेशन का मतलब है अपने पैसे को विभिन्न प्रकार के इंवेस्टमेंट्स में फैलाना है।

अलग-अलग एसेट्स वर्गों आर्थिक और राजनीतिक परिवर्तनों पर अलग-अलग प्रतिक्रिया देते हैं, इसलिए अपने पोर्टफोलियो में विभिन्न वर्गों को शामिल करने से संतोषजनक रिटर्न की संभावना बढ़ जाती है। इसके अतिरिक्त, विभिन्न खातों के लिए लक्षित एसेट एलोकेशन, जैसे नकदी या स्टॉक में अधिक भारी निवेश, भी रिटर्न को प्रभावित कर सकता है।

अपने लक्ष्यों तक पहुंचने और आप जो जोखिम उठा रहे हैं, उसके साथ सहज महसूस करने के लिए एक उपयुक्त एलोकेशन रणनीति लागू करना जरुरी है। इसमें उस जोखिम के स्तर का मूल्यांकन करना शामिल है जिसे आप लेना चाहते हैं और आप अपने निवेश के माध्यम से कितना रिटर्न प्राप्त करना चाहते हैं।

इसमें आपकी वित्तीय स्थिति की जांच करना, निवेश की समय-सीमा निर्धारित करना और बाजार में अस्थिरता के स्तर का आकलन करना भी शामिल है।

एसेट एलोकेशन में समय क्षितिज एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, सेवानिवृत्ति योजना जैसे दीर्घकालिक लक्ष्य स्टॉक जैसे विकास-उन्मुख एसेट्स के लिए उच्च एलोकेशन की अनुमति देते हैं, जबकि डाउन पेमेंट के लिए बचत जैसे अल्पकालिक लक्ष्यों के लिए अस्थिरता को कम करने के लिए अधिक रूढ़िवादी एलोकेशन की आवश्यकता हो सकती है। 

नियमित रूप से निगरानी करना और अपने निवेश पोर्टफोलियो की रीबैलेंसिंग करना संतुलित अप्रोच बनाए रखने और जोखिम प्रबंधन करते हुए वांछित रिटर्न प्राप्त करने के लिए महत्वपूर्ण है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि अच्छा एसेट एलोकेशन प्राप्त करना एक सतत प्रक्रिया है जिसमें वित्तीय स्थिति और निवेश लक्ष्य विकसित होने पर निगरानी, ​​मूल्यांकन और एडजस्टमेंट करने की आवश्यकता होती है। 

Example Of A Crypto Allocation Portfolio

एसेट डायवर्सिफिकेशन

डायवर्सिफिकेशन में सर्वोत्तम स्टॉक या बॉन्ड पर ध्यान केंद्रित करने के बजाय एक ही एसेट वर्ग के भीतर विभिन्न निवेशों में पैसा लगाया जाता है। 

डायवर्सिफिकेशन एक ऐसी रणनीति है जो उच्च जोखिम वाले निवेशों से जुड़े जोखिम को कम करने में मदद करती है, खासकर क्रिप्टोकरेंसी बाजार में। इसमें केवल एक या दो के बजाय विभिन्न निवेशों की एक विस्तृत श्रृंखला में निवेश किया जाता है। 

इस तरह के जोखिम डायवर्सिफिकेशन से किसी भी बड़े नुकसान की संभावना कम हो जाती है, क्योंकि अगर एक एसेट विफल हो जाता है, तो भी संभावना है कि दूसरा एसेट कुछ अलग प्रदर्शन कर सकता है। कुछ एसेट अपना मूल्य बरकरार रख सकती हैं, जबकि अन्य बढ़ सकती हैं, जिससे समग्र पोर्टफोलियो में सुधार होगा। 

डायवर्सिफिकेशन का सिद्धांत हमें बताता है कि आप कॉइन्स, उद्योग, एसेट वर्गों और निवेश व्हीकल्स द्वारा विविधता ला सकते हैं।

डिजिटल कॉइन्स के अपनी ओनरशिप में विविधता लाना आपके क्रिप्टो पोर्टफोलियो की डाइवर्सिटी को बढ़ाने का सबसे आसान तरीका है। इस मेथड के लिए, आप पेमेंट टोकन, सिक्योरिटी टोकन, गेमिंग टोकन, NFT आदि में से चुन सकते हैं।

स्वास्थ्य सेवा, मनोरंजन, जलवायु परिवर्तन और रियल एस्टेट-&nbsp जैसे विभिन्न उद्योगों सम्बंधित प्रोजेक्ट्स में निवेश करके अपने क्रिप्टो या ब्लॉकचेन पोर्टफोलियो में डाइवर्सिटी लाई जा सकती है; ब्लॉकचेन तकनीक कई क्षेत्रों में लागू होती है।

क्रिप्टो और ब्लॉकचेन निवेशकों के पास अपने क्रिप्टो पोर्टफोलियो में डाइवर्सिटी लाने के लिए स्टॉक, बॉन्ड या कमोडिटी जैसे कई एसेट वर्ग होती हैं।

यदि पोर्टफोलियो सुरक्षा किसी कथित जोखिम में है तो निवेशक विभिन्न निवेश व्हीकल्स और खाता प्रकारों में पूंजी का डायवर्सिफिकेशन कर सकते हैं। इस प्रकार, वे डिजिटल वॉलेट, क्रिप्टो व्यक्तिगत सेवानिवृत्ति खाते, कर योग्य ब्रोकरेज खाते या DeFi उत्पाद जैसे विकल्पों में से चुन सकते हैं।

Example Of The Diversified Portfolio By Asset Types

बिटकॉइन बनाम Altcoins: बुलिश मार्किट में क्या चुने

बिटकॉइन (BTC) बाजार मूल्य के हिसाब से अग्रणी क्रिप्टोकरेंसी है और सबसे अधिक कारोबार करने वाली क्रिप्टोकरेंसी है। इस वर्ष इसमें 150% से अधिक की महत्वपूर्ण वृद्धि देखी गई है, जो S&P 500, सोना और अमेरिकी डॉलर जैसी पारंपरिक संपत्तियों को पीछे छोड़ चुकी है। 

2024 में, बिटकॉइन अपनी बेहतरीन आपूर्ति-मांग स्थितियों के कारण क्रिप्टोकरेंसी बाजार को बुल मार्केट में ले जा सकता है। अप्रैल 2024 में आगामी बिटकॉइन हाल्विंग इवेंट और बिटकॉइन ETF की संभावित मंजूरी क्रिप्टो बाजार में तेजी का समर्थन कर सकती है।

लॉन्ग-टर्म BTC धारक कॉइन्स जमा कर रहे हैं, जिससे बाजार में सप्लाई में कमी आ रही है। 2023 में बिटकॉइन में संस्थागत निवेशकों की रुचि लगातार बढ़ी है, BTC फ्यूचर्स में रिकॉर्ड-हाई ओपन इंटरेस्ट है।

हालांकि, तेजी की अवधि के दौरान, चतुर व्यापारी और निवेशक जोखिम लेने और बाद की बड़ी सफलता की तलाश में कम-ज्ञात प्रोजेक्ट्स का पता लगाने के लिए अधिक इच्छुक होते हैं। ऐसे में, altcoins की मांग बढ़ जाती है, जिसके परिणामस्वरूप कीमतें बढ़ जाती हैं। 

Altcoin का चुनाव तकनीकी नवाचारों, साझेदारी और वास्तविक दुनिया के उपयोग के मामलों जैसे कारकों के संयोजन से होता है। 

Altcoins and Bitcoin performance since 2015.

तो, किस विकल्प से निवेशकों को सबसे अधिक लाभ होगा – बिटकॉइन या Altcoins? चलिए चर्चा करते हैं।

बुल रन में BTC में निवेश के फायदे और नुकसान

बिटकॉइन का तीन-वर्षीय चार्ट 1,360% रिटर्न दिखाता है, जो नियामकों के बढ़ते ध्यान और डिजिटल मुद्राओं में बढ़ती रुचि का संकेत देता है, यहां तक कि पारंपरिक बैंक भी अपनी डिजिटल करेंसी रणनीतियों में विकास कर रहे हैं।

आज, 20,000 से अधिक क्रिप्टोकरेंसी उपलब्ध हैं, और प्रतिदिन नयी बनाई जा रही हैं। लेकिन बीटीसी सबसे लोकप्रिय बनी हुई है, और यह संभावना नहीं है कि नव निर्मित क्रिप्टो में से कोई भी लंबे समय में BTC के मूल्य को खतरे में डाल सकता है।

सोने और चांदी की तरह बिटकॉइन की अंतर्निहित कमी का मतलब है कि बढ़ती मांग के कारण समय के साथ इसका मूल्य बढ़ेगा, यहां तक कि मूल्य में अल्पकालिक उतार-चढ़ाव से भी, निवेशकों को सबसे बड़े अवसर मिल सकते है।

बिटकॉइन दुनिया भर में व्यक्तियों और व्यवसायों के बीच बेहद लोकप्रिय है, और कुछ विशेषज्ञों के अनुसार, निकट भविष्य में इसे वैश्विक रूप से अपनाया जा सकता है, जो BTC में आज ही निवेश करने का एक और लाभ है।

बिटकॉइन की सप्लाई सीमित है, इसलिए फिएट मुद्राओं के विपरीत, इसका अवमूल्यन नहीं किया जा सकता है, जो मुद्रास्फीति के खिलाफ एक महत्वपूर्ण बचाव है।

हालांकि, BTC निवेश में कई जोखिम भी हैं।

बिटकॉइन की सफलता इसकी समस्याओं के बेहतर तकनीकी समाधान से बाधित हो सकती है, जबकि सख्त सरकारी नियम संभावित रूप से इसके विकास को कमजोर कर सकते हैं। 

इस तथ्य के बावजूद कि BTC के पास अब एक बड़ी बाजार हिस्सेदारी है, इसका सॉफ्टवेयर अभी भी बीटा-परीक्षण चरण में है, और संभावित बदलावों के कारण डेवलपर्स कुल बिटकॉइन पर हार्ड कैप हटा सकते हैं, और संभावित रूप से मुद्रास्फीति सुरक्षा खो सकते हैं।

इसके अलावा, बिटकॉइन का PoW एल्गोरिदम एक बड़ी खामी साबित हो सकता है क्योंकि यह पर्यावरण के लिए हानिकारक है, इसमें सुरक्षा का अभाव है और इसके अधिक विश्वसनीय और पर्यावरण-अनुकूल विकल्प भी उपलब्ध हैं, जैसे प्रूफ ऑफ़ हिस्ट्री (पीओएच)

बुल रन में Altcoins में निवेश के फायदे और नुकसान

बिटकॉइन से अलग, Altcoins ने एक महत्वपूर्ण बाज़ार स्थान स्थापित किया है। बुल रन के दौरान, अनुभवी और नए निवेशकों की आमद, नई प्रौद्योगिकियों के विकास, निवेश पोर्टफोलियो के विविधीकरण, भविष्य की संभावनाओं के बारे में अटकलों और उनके विशिष्ट उपयोग के मामलों के कारण altcoins को अपनाने में वृद्धि के कारण altcoins में महत्वपूर्ण वृद्धि का अनुभव होता है।

कई altcoins स्केलेबिलिटी, सुरक्षा और शासन की सीमाओं को आगे बढ़ाते हैं, जिससे पूरे ब्लॉकचेन उद्योग को लाभ होता है। वे निवेश पर उच्च रिटर्न प्रदान करते हैं, कुछ के मूल्य में महत्वपूर्ण वृद्धि का अनुभव होता है।

क्योंकि बिटकॉइन के क्रिप्टो बाजार में प्रवेश करने के बाद altcoins विकसित किए गए थे, उन्होंने बिटकॉइन की तुलना में बेहतर लेनदेन गति और लागत की पेशकश करते हुए अपनी तकनीक में काफी सुधार किया है।

कुछ altcoins, जैसे Ethereum या Solana, अपने व्यापक उपयोग के कारण बिटकॉइन से बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, नीचे दिए गए चार्ट पर, आप देख सकते हैं कि 2023 की शुरुआत से, SOL-USD ने 626.52% का रिटर्न दिखाया है, जो कि BTC-USD के 160.00% के रिटर्न से काफी अधिक है (चार्ट दोनों एसेट्स में $10,000 के निवेश की वृद्धि को दर्शाता है, जिसे विभाजन और लाभांश के लिए समायोजित किया गया है)।  

Comparison of Sol-USD and BTC-USD returns in 2023.

संभावित लाभों के बावजूद, altcoins के डिजिटल एसेट्स पोर्टफोलियो के कुछ जोखिम भी हैं, जैसे उच्च अस्थिरता, कम लिक्विडिटी और बाजार की भावना के प्रति संवेदनशीलता। स्पेक्युलेटिव ट्रेडिंग और प्रचार के कारण नए altcoins को कीमतों में उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। एडॉप्शन में कमी, तकनीकी समस्याएं या बाजार की बदलती गतिशीलता के कारण कई लोग इसे झेल नहीं पाते। नए altcoins लगातार बाजार में प्रवेश कर रहे हैं, जो संभावित रूप से मौजूदा प्रोजेक्ट्स को बाधित कर सकते हैं।

इसके अलावा, क्रिप्टो बाजार में altcoins की हिस्सेदारी बिटकॉइन की तुलना में बहुत कम है क्योंकि BTC क्रिप्टो बाजार शुरू करने वाली पहली कंपनी थी।

इन जोखिमों को कम करने के लिए, विभिन्न प्रकार के टोकन में निवेश करें, अपने पोर्टफोलियो में सीमित altcoins रखें, और हमेशा altcoin विकास, प्रौद्योगिकी, नियमों और रुझानों पर अपडेट रहें। 

विशेषज्ञों का अनुमान है कि ChainLink, Arbitrum और Optimism जैसे altcoins में उछाल आएगा, जबकि बिटकॉइन के सबसे आगे रहने और ट्रिलियन-डॉलर एसेट बनने की भविष्यवाणी की गई है।

कुछ तथ्य

Altcoins के माध्यम से अपने पोर्टफोलियो में विविधता कैसे लाएं

Altcoin के इकोसिस्टम में NFTs, स्टेबल कॉइन्स, मीम कॉइन्स, P2E टोकन, गवर्नेंस टोकन, और कई अन्य शामिल हैं। कुछ अपने इनोवेटिव यूज़-केस और उभरती प्रौद्योगिकियों के कारण उच्च विकास क्षमता प्रदान करते हैं, जबकि अन्य, जैसे DeFi टोकन, जो DeFi तक पहुंच प्रदान करते हैं और गोपनीयता सिक्के लेनदेन गुमनामी चाहने वालों को पसंद आते हैं।

Altcoins विकास क्षमता, स्थिरता और इनोवेशन के संदर्भ में विविधता प्रदान करके क्रिप्टोकरेंसी पोर्टफोलियो को बेहतर बना सकता है। 

इस प्रकार, अपने क्रिप्टो पोर्टफोलियो में ETH जोड़ने से लाभ और स्थिरता बढ़ सकती है क्योंकि यह सबसे मार्केट कैप के हिसाब से सबसे बड़ा और सबसे लोकप्रिय altcoin है।

दूसरी ओर, उदाहरण के लिए, मीम कॉइन्स में निवेश करना जोखिम भरा हो सकता है क्योंकि उनमें फंडामेंटल वैल्यू की कमी होती है, वे अत्यधिक अस्थिर होते हैं और अक्सर घोटाले में बदल जाते हैं। हालाँकि, अच्छी तरह से स्थापित मीम कॉइन्स जैसे Dogecoin or Shiba Inu आपके पोर्टफोलियो में चार-चाँद लगा सकता है, जो उच्च रिटर्न और कई आकर्षक अवसर प्रदान करता है।

यह डायवर्सिफिकेशन बेहतरीन altcoin अवसरों को भुनाने में मदद करता है और विभिन्न एसेट में जोखिम को बांटता है, इसलिए मंदी में बचने रहने और तेजी के दौरान लाभ के लिए लो-कैप जेम्स और लार्ज-कैप क्रिप्टो दोनों रखें। लेकिन याद रखें कि लंबे समय में, पोर्टफोलियो बनाना निवेशकों की प्राथमिकताओं और जोखिम लेने की क्षमता पर निर्भर करता है। लेकिन डायवर्सिफिकेशन हमेशा महत्वपूर्ण होता है।

मुख्य सार

क्रिप्टो बुल मार्केट निवेशकों को आकर्षित करते है और संभावित उच्च रिटर्न प्रदान करते है। हालाँकि, यदि निवेश पोर्टफोलियो खराब तरीके से बनाया गया है तो इसमें कई जोखिम भी शामिल हो सकते हैं। बाज़ार में सफल होने के लिए, अपने पोर्टफोलियो में सही ढंग से एलोकेशन और डायवर्सिफिकेशन करना महत्वपूर्ण है, और altcoins इस उद्देश्य के लिए एक बेहतरीन विकल्प हैं। 

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

ऑप्टीमल क्रिप्टो पोर्टफोलियो एलोकेशन क्या होता है?

ऑप्टीमल क्रिप्टो पोर्टफोलियो एक निवेशक की जोखिम सहने की क्षमता के आधार पर निर्धारित किया जाता है, युवा निवेशकों में आमतौर पर उच्च अस्थिरता वाले क्रिप्टो के लिए अधिक सहनशीलता होती है।

क्या altcoins में निवेश करना बेहतर है या सिर्फ BTC में?

मॉडर्न पोर्टफोलियो सिद्धांत बताता है कि बिटकॉइन और altcoins दोनों में निवेश करने से पोर्टफोलियो रिटर्न बढ़ेगा और जोखिम कम होगा।

बुल मार्केट में निवेश करते समय आप जोखिम का प्रबंधन कैसे करते हैं?

अपने निवेश को विविध क्षेत्रों और एसेट्स में वितरित करके जोखिम कम करें। किसी एक स्टॉक या उद्योग में बड़ी मात्रा में पैसा निवेश करने से बचें और लंबी अवधि के लिए निवेश करने पर विचार करें।

Linkedin

द्वारा लिखित

Anna Churakovaलेखक
Linkedin

द्वारा समीक्षित

Tamta Suladzeप्रमुख लेखक

पिछले लेख

B2BinPay at Finance Magnates Africa Summit 2024
B2BinPay is Bound for Finance Magnates Africa Summit 2024
16.02.2024
Crypto Expo Dubai 2024
B2BinPay To Present at Crypto Expo Dubai 2024
15.02.2024
B2BinPay v19, Instant Swaps and Expanding Blockchain Support
पेश है B2BinPay v19, इंस्टेंट स्वैप और विस्तारित ब्लॉकचेन समर्थन की पेशकश के साथ
How Wrapping Coins Solves a Cross-Chain Problem
रैपिंग से ब्लॉकचेन की क्रॉस-चेन समस्या आखिर कैसे हल हो जाती है
शिक्षा 13.02.2024