Bitcoin vs Credit Cards: How Much Fees Do You Actually Pay?

बिटकॉइन बनाम क्रेडिट कार्ड लेनदेन: आप क्रिप्टो से कितनी बचत करते हैं?

Reading time

लेनदेन और भुगतान के लिए नकदी का उपयोग असामान्य होने लगा है, खासकर क्रेडिट कार्ड, ऑनलाइन बैंकिंग और डिजिटल कर्रेंसियों के बढ़ने से। 

अधिकांश भुगतान प्रोसेसर अब कार्ड से भुगतान करने के लिए कई प्रोत्साहनों के साथ कैशलेस संचालन को प्राथमिकता देते हैं और प्रोत्साहित करते हैं। बिटकॉइन तकरीबन दस साल पहले आया, जिसने इलेक्ट्रॉनिक भुगतान प्रणालियों में एक नया आयाम जोड़ा और कर्रेंसियों का एक संपूर्ण विकेन्द्रीकृत नेटवर्क तैयार किया जो अधिकारियों द्वारा नियंत्रित नहीं हैं। 

क्या इसका मतलब यह है कि BTC भुगतान विधि बेहतर है? क्या आप सचमुच डिजिटल कर्रेंसियों का उपयोग करके पैसे बचाते हैं? आइए बिटकॉइन बनाम क्रेडिट कार्ड की तुलना करें और जानें कि पैसे के लेनदेन का सबसे अच्छा तरीका कौन सा है।

मुख्य बातें

  1. बिटकॉइन और क्रेडिट कार्ड उत्पादों और सेवाओं के लेनदेन और खरीद के दो तरीके हैं।
  2. क्रिप्टो लेनदेन अधिक किफायती और तेज़ हैं क्योंकि उनमें कम मध्यस्थ शामिल होते हैं।
  3. क्रेडिट कार्ड से भुगतान करने पर लेनदेन में शामिल विभिन्न पक्षों के कारण अधिक शुल्क लगता है।
  4. व्यवसाय और परिवार दैनिक लेनदेन और खरीदारी में क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके अरबों डॉलर का अतिरिक्त भुगतान करते हैं।

बिटकॉइन भुगतान को समझना

क्रिप्टोकरेंसी की स्थापना 2009 में सरकार द्वारा नियंत्रित भुगतान के साधनों को चुनौती देने के लिए की गई थी, जिसमें डिजिटल कर्रेंसियों, वॉलेट और ऑडिट बुक की शुरुआत की गई थी। 

यह टेक्नोलोजी तेज़ी से वित्त के जगत में प्रचलित हो गई है और सबसे भीड़भाड़ वाले और व्यस्त बाज़ारोंमें से एक बन गई है, जहाँ ट्रेडर, ब्रोकर और निवेशक पैसा बनाते हैं और अपनी संपत्ति को बढ़ाते हैं।

crypto transactions benefits

इन आभासी कर्रेंसियों को बिना किसी ठोस माध्यम के ऑनलाइन संग्रहीत किया जाता है, और प्रत्येक क्रिप्टोकरेंसी की अपने मूल्य की बदौलत इनका उपयोग ऑनलाइन भुगतान, लेनदेन और फंड ट्रांसफर के लिए किया जा सकता है।

लगभग 10,000 क्रिप्टो कॉइन्स और टोकन हैं, जिनमें से प्रत्येक का फिएट मनी में एक परिवर्तनीय मूल्य है और विशिष्ट टोकनोमिक्स है, जो करेंसी के सर्कुलेशन और संरचना को परिभाषित करते हैं।

क्रिप्टो में लेनदेन कैसे काम करता है?

ब्लॉकचेन टेक्नोलोजी विकेंद्रीकृत प्रणाली की रीढ़ की हड्डी है, जहाँ सभी क्रिप्टो लेनदेन, संचालन और गतिविधियाँ तुरंत और पारदर्शी रूप से दर्ज की जाती हैं।

how crypto payments work

अभासी पैसे भेजने और प्राप्त करने के लिए डिजिटल वॉलेट का होना आवश्यक है। एक बार क्रिप्टो भुगतान शुरू होने के बाद, ब्लॉकचेन स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट शुरू करता है जो पर्याप्त धनराशि सुनिश्चित करने के लिए वॉलेट के साथ संचार करता है।

उसके बाद, प्राप्तकर्ता को जारी किए जाने से पहले लेनदेन को पारितंत्र के नियमों और विनियमों के साथ उसकी पुष्टि की जाती है। यह पूरी प्रक्रिया कुछ सेकंड या मिनटों के भीतर होती है और केंद्रीकृत नियंत्रण या प्राधिकरण के अधीन नहीं होती है। 

वर्षों से अपने मूल्यांकन और परिष्कृत ब्लॉकचेन आर्किटेक्चर के कारण बिटकॉइन और एथेरियम सबसे लोकप्रिय क्रिप्टो भुगतान विधियों में से हैं।

क्रेडिट कार्ड को समझना

वहीं दूसरी ओर, बैंक कार्ड इलेक्ट्रॉनिक भुगतान प्रणालियों का उपयोग करते हैं जो आपके बैंक खाते में जमा किए गए पैसे को डेबिट कार्ड से जोड़ते हैं, जो हर बार खरीदारी करने पर आपके खाते से काट लिया जाता है।

क्रेडिट कार्ड आपको बैंक या वित्तीय संस्थान से प्राप्त फंड्स का उपयोग करके भुगतान करने की अनुमति देते हैं, जिसका आप समय-समय पर या भुगतान अनुसूची में व्यवस्थित होने के बाद भुगतान कर सकते हैं। प्रदाता कंपनियाँ क्रेडिट और डेबिट कार्ड जारी करती हैं, और बैंक आपके फंड का प्रबंधन करते हैं, जिससे आपके कई एसेट अधिकारियों द्वारा नियंत्रित हो जाते हैं।

पारंपरिक भुगतान के तरीकों में कई मध्यस्थ शामिल होते हैं, जो उन्हें कई शुल्कों से जुड़ा बनाता है, जो क्रिप्टोकरेंसी से ज़्यादा हो सकते हैं।

आधुनिक प्रकार के क्रेडिट कार्ड का उपयोग पहली बार 1950 के दशक में किया गया था, और यह विचार तब आया जब एक व्यवसायी न्यूयॉर्क में रात्रिभोज के लिए बाहर गया लेकिन अपना बटुआ घर पर भूल गया।

कुछ आवश्यक बातें

कार्ड से लेनदेन कैसे काम करते हैं?

बैंक कार्ड के भुगतान में कई स्वतंत्र सिस्टम और सर्वर शामिल होते हैं जो हर ऑर्डर के अनुकूल होते हैं और लेनदेन को अंतिम रूप देने के लिए मिलकर काम करते हैं।

हर बार जब आप एक विशिष्ट वीज़ा लेनदेन करते हैं, तो आप व्यापारी को अपने खाते से पैसे निकालने की अनुमति देते हैं, जो मध्यस्थों की एक श्रृंखला से गुज़रता है। एक विशिष्ट लेनदेन में आमतौर पर पाँच से छह भागीदार शामिल होते हैं, जैसे कि कार्डधारक, व्यापारी, अधिग्रहण करने वाला व्यापारी बैंक, क्रेडिट कार्ड नेटवर्क और जारीकर्ता बैंक।

ऑनलाइन बैंक के लेनदेन में भी इसी समान के भागीदार शामिल होते हैं, और इसमें भुगतान प्रासेसिंग गेटवे के जुड़ने से मध्यस्थों के बीच ऑनलाइन संचार की सुविधा मिलती है। लेनदेन में हर एक पक्ष के अपने शुल्क होते हैं, जो सक्रिय क्रेडिट कार्ड शुल्क का कारण है।

how credit card payments work

बिटकॉइन बनाम क्रेडिट कार्ड: सुरक्षा विशेषताएँ

सुरक्षा वो मुख्य उत्प्रेरक है जिसकी वजह से साझा नियंत्रण, विकेंद्रीकरण और उपयोगकर्ता डेटा को संरक्षित करने पर ध्यान केंद्रित करते हुए, क्रिप्टोकरेंसी की शुरुआत और विकास हुआ। ये विशिष्टताएँ क्रेडिट कार्ड से की जाने वाली भुगतान प्रक्रिया से बिल्कुल विपरीत हैं। आइए प्रत्येक प्रणाली के बीच के अंतर की समीक्षा करें।

क्रिप्टो भुगतान सुरक्षा

ब्लॉकचेन एक साझा बहीखाता है जहाँ क्रिप्टो के सभी भुगतानों को रिकॉर्ड और पंजीकृत किया जाता है। उपयोगकर्ता ब्लॉकचेन तक पहुँच सकते हैं और ट्रांसफर की गई राशि, भेजने वाले और प्राप्तकर्ता के वॉलेट और उपयोग की गई मुद्रा के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

उदाहरण के लिए, बिटकॉइन किसी केंद्रीकृत संगठन या सरकार से संबंधित नहीं है। इसके बजाय, इसे नेटवर्क डेवलपर्स के एक समूह द्वारा बनाए रखा जाता है जो कॉइन्स में निवेश करते हैं और ब्लॉकचेन की सुरक्षा और स्केलेबिलिटी को बढ़ाने और सुधारने के लिए लगातार काम करते रहते हैं।

जब आप वॉलेट के लिए साइन अप करते हैं, तो आपको अपनी व्यक्तिगत जानकारी, नाम, व्यवसाय या कोई अन्य विवरण नहीं देने होते हैं, जो आपके डेटा को सुरक्षित रखता है और आपको आपकी पहचान की चोरी के जोखिम से बचाता है।

बैंक भुगतान की सुरक्षा

स्पेक्ट्रम के दूसरी ओर, तकनीकी रूप से कार्ड से भुगतान करने का अर्थ है आपके बैंक को सुरक्षा कारणों से कई तृतीय-पक्ष सेवा प्रदाताओं के साथ आपकी जानकारी को संसाधित करना और प्राप्तकर्ता के बैंक खाते में भुगतान संसाधित करने की अनुमति देना।

इसके अलावा, एक बैंक खाता बनाने के लिए, आपको अपनी आय के स्रोत, पते, संपर्क नंबर और व्यवसाय सहित अपना व्यक्तिगत विवरण जमा करना होगा। फिर, सारी जानकारी इलेक्ट्रॉनिक रूप से KYC प्रदाताओंको भेज दी जाती है, जो खाता खोलने के लिए आपकी पात्रता को संसाधित और सत्यापित करते हैं।

चाहे बैंक जानबूझकर आपकी व्यक्तिगत पहचान को सामने ना लाए, लेकिन आपके विवरण को संसाधित करने और विभिन्न एजेंसियों को वितरित करने से हैकर्स के लिए घुसपैठ करना और आपकी जानकारी या फंड को चुराना आसान हो जाता है।

क्रिप्टो से किए भुगतान क्रेडिट कार्ड की समस्याओं का समाधान कैसे करते हैं

अपरिवर्तनीयता और अंतरसंचालनीयता विकेंद्रीकृत भुगतान की दो मुख्य विशेषताएँ हैं जो पारंपरिक भुगतान प्रणालियों की कमियों को हल करती हैं।

क्रेडिट कार्ड से भुगतान में चार्जबैक धोखाधड़ी एक गंभीर मुद्दा है, जिसमें खरीदार उत्पाद या सेवा प्राप्त करने के बाद भी अपनी खरीदारी पर अनुचित तरीके से रिफंड का अनुरोध करते हैं।

इन दावों से ना केवल व्यापारियों को बेची गई वस्तुओं के लिए पैसे का नुकसान होता है, बल्कि उनकी प्रतिष्ठा को भी नुकसान पहुँचता है, क्योंकि क्रेडिट कार्ड प्रदाता उन व्यापारियों पर प्रतिबंध लगा सकते हैं, जिन्हें अनेकों चार्जबैक स्ट्राइक प्राप्त होते हैं।

क्रिप्टो भुगतान इस मुद्दे पर एक लिमिट लगाता है क्योंकि बिटकॉइन में कोई चार्जबैक नहीं होता है, और एक बार लेनदेन हो जाने के बाद, उन्हें पलटा नहीं जा सकता है।

cryptocurrency security

इसके अतिरिक्त, बैंक भुगतान में करेंसी और क्षेत्र की सीमाएँ होती हैं, और कुछ खातों पर ऐसे प्रतिबंध हो सकते हैं जो उन्हें विदेश में पैसा भेजने या किसी विश्वसनीय तीसरे पक्ष के साथ लेनदेन करने की अनुमति नहीं देते हैं।

दूसरी ओर, नेटवर्क ब्रिजों की बदौलत क्रिप्टोकरेंसी कई ब्लॉकचेन और मुद्राओं के साथ विनिमेय हैं। ये टूल दुनिया भर में और किसी भी चुनी हुई पार्टी के साथ लेनदेन की सुविधा प्रदान करते हैं, जब तक कि उनके पास एक क्रिप्टो वॉलेट पता है।

बिटकॉइन बनाम बैंक:फीस और सरचार्ज

क्रिप्टोकरेंसी लाभप्रदता के कारणों से प्रति भुगतान निश्चित लेनदेन शुल्क नहीं लगाती है। इसके बजाय, बिटकॉइन लेनदेन लागत का उपयोग मान्य नोड्स की भरपाई करने और सिस्टम को विकसित करने और बनाए रखने के लिए उन्हें पुरस्कृत करने के लिए किया जाता है।

क्रिप्टो भुगतान शुल्क इस बात पर निर्भर करता है कि आप लेनदेन को कितनी तेज़ी से संसाधित करना चाहते हैं और नेटवर्क पर भीड़ कितनी है। आमतौर पर, भुगतान को तेज़ी से अंतिम रूप देने पर उच्च गैस शुल्कलगता है।

वहीँ दूसरी ओर, बैंक अपनी आय का कुछ हिस्सा कार्ड प्रोसेसिंग फीस से कमाते हैं, प्रत्येक लेनदेन पर ग्राहकों से फीस लेते हैं, जो एक से अधिक भुगतान प्रोसेसर शामिल होने के कारण बढ़ती रहती है। 

इसके अतिरिक्त, बैंक प्रत्येक मौद्रिक गतिविधि से रिटर्न कमाते हैं, जैसे चेक प्रोसेसिंग फीस और सेवा और खाते की रखरखाव की लागत।

क्या आप क्रिप्टोकरेंसी से पैसा बचाते हैं?

ऐसा रिपोर्ट किया गया है कि अगर परिवार और व्यापारी क्रेडिट कार्ड के बजाय भुगतान के निपटान के लिए ब्लॉकचेन भुगतान का उपयोग करते तो अरबों डॉलर बचा सकते थे।

व्यवसायों ने $125 बिलियन से अधिक बचा लिया होतायदि वे भारी बैंक कार्ड शुल्क का भुगतान करने के बजाय भुगतान संसाधित करने के लिए क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग करते, जो कभी-कभी उचित क्रेडिट कार्ड सुविधा शुल्क संकेत के बिना लगाया जाता है।

बिटकॉइन बनाम बैंक: लाभ और नुकसान

BTC और बैंक भुगतान के बीच चयन करना व्यक्तिपरक हो सकता है। सुरक्षा और सुविधओं की विशेषताएँ व्यापक रूप से अलग हो सकती हैं। इसलिए, आइए इन भुगतान विधियों के फायदे और नुकसान पर एक नज़र डालें।

credit cards vs bitcoin

बिटकॉइन से भुगतान

  • क्रिप्टो भुगतान तेज़ और लगभग तुरंत होते हैं।
  • क्रिप्टो में लेनदेन अधिक किफायती हैं और इसमें कम शुल्क लगते हैं।
  • बिटकॉइन लेनदेन अपरिवर्तनीय हैं और इन्हें पलटा नहीं जा सकता है।
  • उपयोगकर्ता क्रिप्टो भुगतान के बिना भी अपने व्यक्तिगत डेटा को संरक्षित कर सकते हैं।

हालाँकि, उनके गुमनाम रखने की विशेषता के कारण, विकेंद्रीकृत लेनदेन और प्लेटफ़ॉर्मों को हमेशा हैकर्स द्वारा टारगेटकिया गया है, और वॉलेट से अरबों डॉलर चुराए गए हैं। 

क्रेडिट कार्ड से भुगतान

  • भुगतान कई सुरक्षा प्रोटोकॉलों द्वारा सुरक्षित हैं।
  • कुछ बैंक धोखाधड़ी के खिलाफ बीमे की पेशकश करते हैं।
  • बैंक ढेर सारे पुरस्कार और लॉयल्टी प्रोग्राम पेश करते हैं।

हालाँकि, क्रेडिट कार्ड में क्रिप्टो की तुलना में अधिक फीस होती है और यह उपयोगकर्ता के डेटा को एकत्र करते हैं, जिससे उनकी पहचान की चोरी या लीक होने का खतरा बढ़ जाता है।

निष्कर्ष

केंद्रीकृत और विकेन्द्रीकृत भुगतान प्रणालियों के बीच चयन करना एक गर्मी भरी बहस की तरह है, और कई व्यवसायों को बिटकॉइन बनाम क्रेडिट कार्ड की तुलना का सामना करना पड़ता है। हालाँकि, जवाब व्यावसायिक लक्ष्यों और लक्षित बाज़ार पर निर्भर करता है।

उदाहरण के लिए, क्रिप्टोकरेंसी विभिन्न प्रोटोकॉल और आभासी कर्रेंसियों के साथ इंटरैक्ट कर सकती है, जबकि सीमाओं के पार नकद लेनदेन महंगा हो सकता है।

इन दो तरीकों के बीच निर्णय लेने में सुरक्षा और सामर्थ्य दो आवश्यक कारक हैं: कौन सी क्रिप्टोकरेंसी बेहतर परिणाम देती है क्योंकि वे कम महंगी हैं, और किसके ब्लॉकचेन सुरक्षा प्रोटोकॉल साल दर साल बेहतर होते जा रहे हैं।

Linkedin

द्वारा लिखित

Hazem Alhalabiकॉपीराइटर

पिछले लेख

B2BinPay at Bitcoin Asia Hong Kong 2024 Expo
B2BinPay to Attend Bitcoin Asia Hong Kong 2024 Expo
17.04.2024
B2BinPay at Latam Family Office Announcement Summit
B2BinPay Fosters Global Connections at Latam Family Office Investment Summit
15.04.2024
best multicurrency crypto wallet in 2024
2024 में अपने क्रिप्टो एसेट्स के लिए सबसे बेहतरीन मल्टी-मुद्रा वॉलेट की खोज कैसे करें?
शिक्षा 10.04.2024
White-label Crypto Payment Gateway
वाइट लेबल क्रिप्टो भुगतान गेटवे क्या है & यह किसके लिए है?
शिक्षा 09.04.2024